मुरैना| संजय दीक्षित| लॉकडाउन (Lockdown) में शराब माफिया नई नई स्कीम ढूढंकर अवैध शराब को खपाने में लगे हुए है। चाहे दूध की टँकी में रखकर, एम्बुलेंस में या डाक पार्सल वाहन में रखकर अवैध शराब की बिक्री करने में लगे हुए है। पुलिस अधीक्षक असित यादव , अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हँसराज सिंह और सीएसपी ने अवैध शराब माफियाओं पर शिकंजा कसने के लिए थाना प्रभारियों को निर्देशित किया था।

इसी निर्देशन में सिविल सिविल लाइन थाना टीआई विनय यादव को मुखबिर द्वारा सूचना मिली कि लाखों रुपए की ओपी डांक पार्सल वाहन में कैलारस से भर कर मुरैना की तरफ लायी जा रही हैं।मुखबिर की सूचना से सिविल लाइन टीआई ने मय फ़ोर्स के बैरियर चौराहे से गाड़ी का पीछा किया तो आरोपी डाक पार्सल की गाड़ी में मय ओपी को अम्बाह बाई पास पर छोड़कर भाग गया। पुलिस ने अम्बाह बाई पास पर रखी डाक पार्सल गाड़ी mp06E5750 की तलाशी ली तो गाड़ी के अंदर करीब 2 लाख रुपए की 11 केन ओपी से भरी हुई रखी थी। ओपी का इस्तेमाल शराब बनाने में किया जाता हैं।टीआई ने जप्त ओपी और गाड़ी की कीमत करीब 8 लाख रुपए बतायी हैं।पुलिस ने फरार आरोपी पर आबकारी एक्ट के तहत मामला दर्ज कर जाँच शुरू कर दी हैं।