मुरैना| संजय दीक्षित| पोरसा थाना क्षेत्र के बुधारा गांव में एक पुत्र ने अपने पिता की चाकू से गोद कर सिर्फ इस बात पर हत्या कर दी , क्योंकि पिता ने अपने पुत्र और पुत्र बधू के बीच हो रहे झगड़े में दोनो को झगड़ा करने से रोका था । इस बात से नाराज पुत्र ने खटिया पर सो रहे अपने पिता को चाकू से हमला कर मौत के घाट उतार दिया ।

मृतक आशाराम सखवार के छोटे बेटे ने बताया कि सोमवार शाम को उसे फोन में सूचना मिली कि घर पर आपस मे झगड़ा हो रहा है ,तुम जल्दी घर आ जाओ । जब छोटे बेटा रात्रि करीब नो बजे अपने गांव बुधारा पहुंचा तो देखा कि पिता आशाराम सखवार मृत अवस्था मे खटिया पर मिला । जब पुलिस ने पूछताछ की तो बच्चो ने बताया कि बीरेंद्र और उसकी पत्नी के बीच किसी बात पर झगड़ा हो रहा था, बीरेंद्र सखवार अपनी पत्नी की मारपीट कर रहा था । तभी 75 बर्षीय पिता आशाराम ने झगड़ा करने से रोका और बहू की मारपीट नही करने दी । इसी बात से नाराज आशाराम के बड़े बेटे बीरेंद्र ने नाराज होकर चाकू से सोते समय अपने 75 बर्षीय पिता की चाकू से गोद कर हत्या कर दी ।पुलिस ने हत्या के आरोपी को गिरफ्तार कर लिया हैं।