जहरीली शराब मामला : मुरैना एसपी पर गिर सकती है गाज

संभावना है कि कैबिनेट बैठक  (Cabinet Meeting) के तुरंत बाद मुख्यमंत्री मुरैना के एसपी (Morena SP) और जिला आबकारी अधिकारी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई कर सकते हैं।

मुरैना एसपी

मुरैना, संजय दीक्षित। जिले (Morena District)  में जहरीली शराब (Poisonous Liquor)  पीने से हुई 10 लोगों की मौत के बाद मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh)  में हड़कंप मच गया है। दरअसल कुछ दिन पहले ही उज्जैन में जहरीली शराब कांड का मामला भी ठंडा ही नहीं हुआ कि एक नया मामला सामने आ गया है।

यह भी पढ़े… Morena News : जहरीले शराब का कहर, 10 लोगों की मौत, कईयों की हालात गंभीर

दरअसल पिछले काफी लंबे समय से मुरैना में अवैध शराब का कारोबार चल रहा है और पुलिस और आबकारी विभाग के संरक्षण में धंधा फलता फूलता जा रहा है। उज्जैन शराब कांड के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने कड़ी कार्रवाई करते हुए वहां के एसपी (Ujjain SP) और आबकारी अधिकारी को हटाने के निर्देश दिए थे और इस बात की व्यापक संभावना है कि कैबिनेट बैठक  (Cabinet Meeting) के तुरंत बाद मुख्यमंत्री मुरैना के एसपी (Morena SP) और जिला आबकारी अधिकारी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई कर सकते हैं।

बता दे कि  यह पहला मौका नहीं है जब मुरैना के पुलिस अधीक्षक अनुराग सुजानिया (Morena SP Anurag Suzania) विवादों के घेरे में आए हो। पिछले दिनों एक एसडीओपी (SDOP) का निलंबित पुलिसकर्मी के साथ ऑडियो वायरल हुआ था जिसमें एसपी के नाम पर वसूली के आरोप लगे थे।

इसके बाद सहारा इंडिया कंपनी से पैसे न मिलने की शिकायत कुछ निवेश कर्ताओं ने की थी और यह आरोप लगाया था कि कंपनी के एजेंट और मैनेजर एसपी और मुरैना पुलिस (Morena Police) के नाम पर वसूली कर रहे हैं। मुख्यमंत्री एक और मध्य प्रदेश में लगातार सुशासन के लिए संदेश दे रहे हैं और पिछली वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में उन्होंने साफ तौर पर एसपी और कलेक्टर को किसी भी ऐसी घटना के लिए सीधे तौर पर जिम्मेदार होने की बात कही थी । गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा (Home Minister Narottam Mishra) ने कहा है कि इस मामले में अभी एक सब इंस्पेक्टर (SI) को निलंबित (Suspended) कर दिया गया है और मामले की जांच अलग टीम से कराई जाएगी