कांग्रेस का आरोप- बीजेपी के संरक्षण में चल रहा अवैध शराब का कारोबार

मुरैना, संजय दीक्षित। कांग्रेस 20 जनवरी को देवरी में महापंचायत का आयोजन करने जा रही है। मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष दिनेश गुर्जर ने पत्रकार वार्ता में बताया कि किसान महापंचायत का आयोजन देवरी गांव में क्वारी नदी किनारे सुबह साढ़े 11 बजे किया जा रहा हैं। इस मौके पर पूर्व मंत्री पीसी शर्मा भी मौजूद थे। उन्होने अवैध शराब से हुई मौतों के लिए राज्य सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए जल्द से जल्द दोषियों पर कार्रवाई की मांग की। इसी को लेकर अब कांग्रेस महापंचायत करने जा रही है जिसमें पूर्व मुख्यमंत्री एवं अध्यक्ष मप्र कॉंग्रेस कमेटी कमलनाथ, पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह, पूर्व मंत्रीगण, कार्यकारी अध्यक्ष एवं ग्वालियर चम्बल संभाग के समस्त कांग्रेस विधायक उपस्थित रहेंगे।

कृषि कानून के विरोध में किसानों के हित में किसान महापंचायत का आयोजन किया जा रहा हैं। इस अवसर पर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ छैरा में हुई दुखद घटना में मृत लोगों के परिजनों से मुलाकात करेंगे। उसके बाद किसान महापंचायत में किसान, मजदूर, गरीबों के हित में निर्णय लिए जाएंगे। इस दौरान पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ, दिग्विजय सिंह और वरिष्ठ नेता किसानों से चर्चा करेंगे। इस मौके पर मौजूद पूर्व जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने कहा कि जब हम पीड़ित परिवारों के बीच में छैरा और मानपुर गांव में पहुंचे तो उनका कहना था कि केवल कांग्रेस के लोग ही आए हैं। भारतीय जनता पार्टी के मंत्री आए थे तो उन्होंने मुंह से मास्क भी नहीं खोला और ये कहकर चले गए कि कोई भी परेशानी हो तो घर पर आ जाना।अगर पीड़ित परिवारों को कुछ देना ही था तो मौके पर देना चाहिए था। उन्होने कहा कि मुख्यमंत्री को शराब माफियाओं के खिलाफ तत्काल कार्रवाई करना चाहिए थी। अगर रतलाम, उज्जैन में कार्यवाही कर देते तो मुरैना में इतनी बड़ी घटना नहीं होती। कांग्रेस ने भारतीय जनता पार्टी के संरक्षण में अवैध शराब का काला कारोबार फलने-फूलने का आरोप लगाया। कांग्रेस ने कहा कि मुख्यमंत्री कहते हैं कि छैरा गांव मेरा गोद लिया हुआ गांव है। इस तरह तो सरकार के संरक्षण में अवैध कारोबार फल फूल रहा है। उन्होने कहा कि आरोपियों पर कार्रवाई मुख्यमंत्री की इच्छा शक्ति पर निर्भर है, नहीं तो मुरैना उनके लिए काला धब्बा है।