कांग्रेस ने निकाली जन आक्रोश रैली, पुलिस और कांग्रेसियों के बीच झूमाझटकी

मुरैना, नितेंद्र शर्मा। बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी और अन्य मुद्दों को लेकर कांग्रेस ने मंगलवार को मुरैना शहर में जन आक्रोश रैली निकाली। इस रैली का आयोजन बहुत बड़े स्तर पर किया गया जिसकी अगुवाई पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा कर रहे थे। इस रैली का आयोजन मुरैना विधायक राकेश मावई व जिला कांग्रेस अध्यक्ष दीपक शर्मा द्वारा किया गया। इस बीच यहां कांग्रेसियों और पुलिस के बीच झूमाझटकी भी हुई।

दमोह के कलेक्टर परिसर में गुंडों से परेशान युवक ने खाया ज़हर, अस्पताल में भर्ती- कलेक्टर ने कहा जानकारी मिली कार्यवाही होगी

कांग्रेस ने निकाली जन आक्रोश रैली, पुलिस और कांग्रेसियों के बीच झूमाझटकी

रैली में सरकार और स्थानीय प्रशासन के खिलाफ कई मुद्दे उठाए गए, जिसमें नगर निगम द्वारा सीवरेज का जो कार्य किया जा रहा है उसमें धांधली की बात भी शामिल थी। इसे लेकर नारेबाजी की गई और सरकार से निष्पक्ष जांच कराने की मांग की। वहीं कांग्रेस ने मांग की कि कोरोना महामारी में इलाज के अभाव में जिन गरीबों की मृत्यु हुई है उन लोगों को 7500 रूपये महीना दिया जाए, मनरेगा में 200 दिन का रोजगार निश्चित किया जाए, बढ़ती हुई बेरोजगारी और महंगाई पर भी विरोध जाहिर किया गया। कांग्रेसियों के आंदोलन के कारण सुबह से ही पूरे शहर में ट्रैफिक को वन वे कर दिया गया, जिसके कारण आम जनता को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा। वहीं इस रैली में उस समय धक्का मुक्की होने लगी जब कांग्रेसियों ने सरकार के खिलाफ राज्यपाल के नाम कलेक्टर को ज्ञापन देने के लिए पुराने कलेक्ट्रेट मे घुसने की कोशिश की। यहां उन्होने पुलिस द्वारा लगाए गए बैरिकेड्स को हटाकर अंदर जाने का प्रयास किया और इस दौरान स्थिति को संभालने के लिए वहां मौजूद पुलिस वालों ने बल प्रयोग किया। इस कारण कुछ कांग्रेसियों को चोट भी आई लेकिन बाद में प्रशासन ने स्थिति को संभालते हुए समझा बुझाकर उन्हें वापिस भेज दिया।