रेत माफिया और वन विभाग की टीम के बीच फायरिंग, ट्रैक्टर ट्राली छोड़कर भागे

उन्होंने कहा कि अवैध रेत का उत्खनन करने वालों के खिलाफ यह कार्रवाई निरंतर जारी रहेगी । इसके बाद शहर में जो भी अवैध नाले -नालियों और सरकारी बिल्डिंग में अवैध रेत से निर्माण कराया जा रहा है उन ठेकेदारों के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी।

मुरैना, संजय दीक्षित। सिविल लाइन थाना क्षेत्र के घरोना मंदिर के पास बनी वन चौकी के पास बुधवार सुबह करीब 5:00 बजे रेत माफिया और वन विभाग के बीच फायरिंग हो गयी। जिसमें अवैध रेत (Illegal Sand)  से भरे ट्रैक्टर ट्रॉली (Tractor Trolley) को छोड़कर आरोपी भाग गए। जिनकी तलाश की जा रही है।

जानकारी के अनुसार बुधवार की सुबह करीब 5:00 बजे घरोना मंदिर के पास बनी वन चौकी (Forest Chauki) के पास अवैध रेत का उत्खनन कर बाजार की तरफ ट्रैक्टर ट्रॉली आ रहे थे। तभी वन चौकी (Forest Chauki) के पास गश्ती टीम ने अवैध रेत से भरी ट्रैक्टर ट्रॉली को रोकने की कोशिश की तो आगे चल रहे कुछ अज्ञात बाइक सवार लोगों ने वन विभाग की टीम पर फायरिंग कर दी ।जिसके बाद जवाबी कार्रवाई में वन विभाग की टीम ने भी फायरिंग की तो आरोपी अवैध रेत से भरे ट्रैक्टर ट्रॉली को छोड़कर भाग गए।

ये भी पढ़ें – शपथ लेते ही ममता बनर्जी ने लगाई पाबंदियां, गुरूवार से लोकल ट्रेन बंद, बाहर से आने वालों के लिए ये होंगे नियम

डीएफओ अमित निकम के निर्देशन में चम्बल अभ्यारण की अधीक्षिका सुश्री श्रद्धा पांढरे के नेतृत्व में घड़ियाल सेंचुरी की गश्ती टीम में शामिल बलवीर परमार, पुरुषोत्तम दीक्षित, प्रमोद तोमर, जितेंद्र शर्मा, सुरेंद्र भारती, प्रदीप शर्मा, सुनील कुमार और दिनेश शर्मा ने आज सुबह 5:00 बजे अवैध रेत से भरी ट्रैक्टर-ट्रॉली को रोकने की कोशिश की तो रेत माफिया ने कट्टे से फायरिंग शुरू कर दी। जिसकी जबाबी कार्यवाही में वन विभाग की टीम ने भी फायरिंग की। जिसके बाद आरोपी रेत से भरी ट्रैक्टर ट्रॉली को छोड़कर भाग गए। उसके बाद फिर से वापस आने के बाद बाइक सवार कुछ अज्ञात लोगों ने वन विभाग की टीम पर फिर से फायरिंग कर दी। जिस की जवाबी कार्रवाई में वन विभाग की टीम ने भी फायरिंग की। फायरिंग करने के बाद आरोपी भाग गए।

ये भी पढ़ें – कमल नाथ का शिवराज सरकार पर निशाना, ममता बनर्जी को बुलाएंगे इंदौर

इससे पहले भी वन विभाग की टीम पर अज्ञात लोगों ने फायरिंग की थी लेकिन सिविल लाइन पुलिस ने अभी तक आरोपियों के खिलाफ कोई कार्यवाही नही की है। देवरी चम्बल अभ्यारण की अधीक्षिका सुश्री श्रद्धा पांढरे ने बताया कि ट्रैक्टर चालक के खिलाफ मामला दर्ज कर ट्रैक्टर को राजसात करने की कार्रवाई की है। उन्होंने कहा कि अवैध रेत का उत्खनन करने वालों के खिलाफ यह कार्रवाई निरंतर जारी रहेगी । इसके बाद शहर में जो भी अवैध नाले -नालियों और सरकारी बिल्डिंग में अवैध रेत से निर्माण कराया जा रहा है उन ठेकेदारों के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी। चंबल नदी में पल रहे जलीय जीवों को बचाने के लिए अवैध उत्खनन करने वालों के खिलाफ पूरे जिले में कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जा रही है। जिससे चंबल में पल रहे जलीय जीवों को परेशानी न हो। इसके लिए भी ठोस कदम उठाए जा रहे है।