गुड्डा गैंग ने मधुमक्खी पालकों को हथियारों के दम पर लूटा, पहाड़गढ़ के जंगलों में तलाश

गुड्डा गुर्जर और उसके तीन-चार साथियों ने बंदूक की नोंक पर रोककर मोबाइल, नगद 10 हजार रूपये लूट कर कपडे भी छीन कर भाग गए। फरियादी ने घटना की सूचना पहाडगढ पुलिस को दी और थोडी देर में यह घटना सनसनी खेज की तरह पूरे अंचल में फैल गई।

मुरैना, संजय दीक्षित| पहाडगढ के जंगलों से निकल रहे मधुमक्खी पालनकर्ताओं को गुड्डा गुर्जर गैंग (Gudda Gurjar Gang) ने बंदूक की नोंक पर रोककर कपडे, मोबाइल और पैसे लूटकर भाग गए। घटना मरा घाटी के पास घटित हुई हैं। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस अधीक्षक अनुराग सुजानिया (SP Anurag Sujania) व अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हंसराज सिंह (Hansraj Singh) मय फ़ोर्स के मौके पर पहुंचकर फरियादी को साथ लेकर घटना स्थल का मौका मुआयना करने के लिए पहुँच गए। वहीं इस घटना को लेकर समूचे अंचल में दहशत का माहौल है।

जानकारी के अनुसार दर्शन पुत्र गणपति धाकड आयु 45 वर्ष निवासी किसरौली बेराड में मधुमक्खी पालन का व्यापार करता है। वह मधुमक्खी का शहद निकालकर अपने गांव ट्रक से किसरौली की तरफ आ रहा था। तभी रात्रि के करीब 1 बजे मरा घटिया के पास गुड्डा गुर्जर और उसके तीन-चार साथियों ने बंदूक की नोंक पर रोककर मोबाइल, नगद 10 हजार रूपये लूट कर कपडे भी छीन कर भाग गए। फरियादी ने घटना की सूचना पहाडगढ पुलिस को दी और थोडी देर में यह घटना सनसनी खेज की तरह पूरे अंचल में फैल गई।

पुलिस अधीक्षक पुलिस बल के साथ पहाडगढ के जंगलों में गुड्डा गैंग की तलाश में पहुंच गए हैं लेकिन बदमाशों का कोई सुराग नहीं लगा है। फिलहाल आरोपियों के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं की गई है और साथ ही सूचना मिलने तक मामले में कोई एफआईआर दर्ज नहीं की गई है।घटना के समय गनपत के साथ निरपत, चंद्रपाल, कमलेश आदि मौजूद थे।