लोकायुक्त की बड़ी कार्रवाई, थाना प्रभारी 10 हजार की रिश्वत लेते रंगेहाथों गिरफ्तार

वहीं थाना प्रभारी को उसके आवास पर ही रंगे हाथों रिश्वत लेते गिरफ्तार किया गया।

bribe

मुरैना, नितेंद्र शर्मा मध्यप्रदेश (MP) में शिवराज सरकार (shivraj government) ने भ्रष्ट अफसरों (corrupt officer) के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है। इसी बीच आज लोकायुक्त ग्वालियर (lokayukt gwalior) द्वारा बड़ी कार्रवाई की गई है। दरअसल ग्वालियर लोकायुक्त ने रामपुर थाना प्रभारी (SI) को 10 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। वही अभी भी लोकायुक्त की कार्रवाई जारी है।

ऐसा ही एक मामला मुरैना जिले में सबलगढ़ तहसील में सामने आया है। थाना प्रभारी द्वारा रेत और पत्थर के ट्रैक्टर निकलवाने के लिए गांव के छोटे कुशवाहा से 10 हजार की रिश्वत की मांग की गई थी। जिसके बाद छोटे उर्फ राघवेंद्र कुशवाहा ने इसकी शिकायत लोकायुक्त ग्वालियर से की थी। यह खबर सही पाए जाने पर लोकायुक्त ने बड़ी कार्रवाई की। वहीं थाना प्रभारी को उसके आवास पर ही रंगे हाथों रिश्वत लेते गिरफ्तार किया गया।

Read More: जबलपुर पुलिस ने अंधे कत्ल का किया खुलासा, पिता ही निकला बेटी का हत्यारा !

रामपुर थाना प्रभारी राहुल उपाध्याय को ग्वालियर लोकायुक्त की टीम ने थाने के पास बने उनके सरकारी आवास में 10 हजार रुपये की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ पकड़ा है। जिस समय रामपुर थाना प्रभारी राहुल उपाध्याय अवैध रेत के ट्रैक्टर को निकलवाने के लिए 10 हजार जरौली गांव के राघवेन्द्र कुशवाह नाम के व्यक्ति से से रिश्वत ले रहे थे। उसी समय लोकायुक्त की टीम ने कार्रवाई करते हुए और रामपुर थाना प्रभारी राहुल उपाध्याय को 10 हजार की रकम सहित गिरफ्तार कर लिया।

इससे पहले देवास जिले में EOW उज्जैन की टीम ने एक फॉरेस्ट रेंजर को 20 हजार की रिश्वत लेते रंगेहाथों गिरफ्तार किया है।यह रिश्वत पट्टे की जमीन पर कपिलधारा योजना में कुआँ खोदने और ज़मीन समतलीकरण के लिए एनओसी दिए जाने के एवज में मांगी गई थी।