गोवा घूमने के लिए रची थी खुद के अपहरण की साजिश, परिवार से मांगी 50 लाख की फिरौती

तरैनी गांव के युवक के अपहरण की गुत्थी को पुलिस ने सुलझाया, पुलिस अधीक्षक ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर किया खुलासा

morena-kidnapping case

मुरैना, संजय दीक्षित| Morena News जिले के पोरसा थाने के तरैनी चरनसिंह का पुरा गांव निवासी युवक के अपहरण मामले (Kidnapping Case) में पुलिस ने सनसनीखेज खुलासा किया है| युवक ने खुद के ही अपहरण की साजिश रची थी, और परिवार से 50 लाख की फिरौती (Ransom) मांगी थी| पुलिस ने बताया कि युवक को गोवा (GOA) घूमने जाना था इसलिए उसने ऐसा किया| पुलिस अधीक्षक अनुराग सुजानिया (SP Anurag Sujania) ने पत्रकारवार्ता को सम्बोधित करते हुए मामले का खुलासा किया|

पुलिस अधीक्षक अनुराग सुजानिया ने बताया कि पोरसा के चरनसिंह का पुरा तरैनी से 30 सितंम्बर की शाम को अपनी मोटरसाइकिल से जिम करने नागेन्द्र पुत्र शिवराज माहोर पोरसा आया था। घर वापिस जाते समय अटेर रोड पर एक खेत में युवक की मोटर साइकिल पड़ी मिली। उसके बाद नागेन्द्र के घर पर फोन करके पचास लाख की फिरोती मांगी गई। फिरौती की सूचना मिलते ही मामला अपहरण में तब्दील कर लिया और पुलिस ने चारो तरफ युवक की तलाश शरू कर दी।

खुद ने ही मांगी फ़ोन पर फिरौती
पोरसा थाना प्रभारी अतुल सिंह ने मय फ़ोर्स की मदद से शुक्रवार को नागेन्द्र को चम्बल नदी के किनारे अटेर रोड पर बरामद कर लिया। पूछताछ पर नरेंद्र ने बताया कि उसने अपनी मोटरसाइकिल को घटना स्थल पर बाजरे के खेत मे ले जाकर पटक दिया और लिफ्ट लेकर अटेर पहुँच गया। फिर मोबाइल से मुह पर तौलिया रखकर अपने पिता से फिरौती की मांग की और अटेर के जंगलों में छिपता रहा ।

गोवा घूमने के लिए रची खुद के अपहरण की कहानी
नागेंद्र ने बताया कि उसे गोवा जाने के लिए पैसों की जरूरत थी, इसलिए उसने स्वयं की अपहरण की कहानी रची। पुलिस ने नागेन्द्र पर धारा 193,196 के तहत आरोपी बनाया है। वहीं नागेन्द्र के पिता का कहना है कि पुलिस की सक्रियता और दबाव के कारण अपहरणकर्ता युवक को छोडकर भाग गए है। पुलिस की बदोलत हमारा लड़का सुरक्षित लौट आया है। उधर पुलिस अधीक्षक ने बताया हैं कि इस घटना में अन्य लोग जो शामिल है उनकी तलाश की जा रही है।