निर्दलीय प्रत्याशी का भाजपा और बसपा पर आरोप, कहा- बसपा ने सौदेबाजी कर बांटे टिकिट

मुरैना, संजय दीक्षित। मुरैना विधानसभा से निर्दलीय प्रत्याशी राजीव शर्मा ने एक पत्रकार वार्ता में बसपा और भाजपा पर गम्भीर सवाल खड़े करते हुए कहा कि भाजपा के प्रत्याशी ने जनता से बिना पूछे इस्तीफा क्यों दिया, ये तो जनता के साथ सरेआम धोखा किया है। भाजपा प्रत्याशी बतायें उनकी क्या मजबूरी थी कि उन्हें इस्तीफा देना पड़ा। भाजपा सरकार ने बहुजन समाज पार्टी से समझौता किया है और वह समझौता इस शर्त पर हुआ है कि दूसरी पार्टी को इसका फायदा मिले। यह सोचकर ही उन्होंने बहुजन समाज पार्टी के टिकिट बांटे हैं। उन्होने बसपा पर सौदा कर टिकिट बांटने का आरोप लगाया है।

राजीव शर्मा ने बड़ा आरोप बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती के ऊपर लगाया है और कहा कि भारतीय जनता पार्टी की केंद्र सरकार ने दबाव बनाया है, जिस प्रकार लालू यादव जेल में पड़े हुए हैं उसी प्रकार तुम को भी जेल में डाल दिया जाएगा। इनकम टैक्स का मामला विचाराधीन है। मैं बहुजन समाज पार्टी में ईमानदारी से कार्य करता रहा हूँ। हमारे पास सारे नेताओं की रिकॉर्डिंग है। उसके बाद 7 जुलाई को तीन बार पार्टी बदल चुके बसपा प्रत्याशी राजोरिया को बहुजन समाज पार्टी ने टिकट दे दिया। उन्होंने कहा कि बसपा प्रदेश अध्यक्ष रमाकांत पिप्पल ने मुझसे पहले एक डेढ़ करोड़ की बात कही। मैंने कुछ नगद राशि भी दी जिसकी मेरे पास पूरी रिकॉर्डिंग है। शर्मा ने कहा कि मैं आपके माध्यम से कहना चाहता हूं कि मुरैना में बहुजन समाज पार्टी ने सौदा किया है। बसपा में करोड़ों रुपए लेकर ये लोग टिकटों का बंटवारा करते हैं।

उन्होंने बताया कि 50 लोग मेरे घर आये थे बगैर मुझे खबर किये तमाम लोगों ने अभद्र भाषा का प्रयोग मेरे घर पर आकर किया।  उन्होंने कहा कि मैंने जीवन में मानवता जैसी संस्था को लेकर जो कार्य किए हैं। निर्दलीय प्रत्याशी होने के बावजूद भी में दावा करता हूं कि मैं इस बार जनता के बीच अपनी जगह बना लूंगा और लोग मुझे आने वाले 3 नवंबर को आशीर्वाद दें। वहीं इस मामले में बसपा के प्रदेशाध्यक्ष रमाकांत पिप्पल ने कहा कि राजीव शर्मा टिकिट न मिलने से बौखलाए हुए हैं और वह भाजपा और कांग्रेस के इशारे पर मेरे ऊपर अनर्गल असत्य निराधार आरोप लगा रहे हैं। यह सब भाजपा और कांग्रेस का षड्यंत्र है। बसपा सबसे आगे जा रही है इसलिए वह रोकने का प्रयास कर रहे हैं। मैं लोकल हूं इसलिए मुझ पर अनर्गल दबाब भी बनाने का प्रयास किया जा रहा हैं।