मां-बेटे पर हमला कर बदमाशो ने की लाखों की डकैती, पुलिस ने शुरु की जांच

मुरैना, संजय दीक्षित। कैलारस थाना क्षेत्र में मंगलवार बुधवार की दरम्यानी रात कस्बे के सेंट जॉन स्कूल के ठीक सामने आधा दर्जन से अधिक सशस्त्र बदमाशों ने घर में घुसकर मां-बेटे को घायल कर लाखों रूपये कीमत की ज्वेलरी लेकर रफूचक्कर हो गये। डकैती की सनसनीखेज वारदात की खबर लगते ही पुलिस अधिकारी ने मौके पर पहुंचकर जांच पड़ताल में जुट गये।

कैलारस कस्बे के पहाड़गढ़ मार्ग सेंट जॉन स्कूल के ठीक के सामने दिलीप सिंह यादव शिक्षक का मकान है। दिलीप सिंह किसी कार्य से गांव गये हुए थे । उनके घर पर उनकी पत्नि लीला देवी 50 वर्ष और बेटा विवेक यादव मौजूद थे। मां बेटे मंगलवार को खाना खाने के बाद सोने के लिये अपने कमरे में चले गये। इसी दौरान मंगलवार-बुधवार की दरम्यानी रात दो बजे के लगभग 8 बदमाश हथियारों से लेस होकर मकान के पीछे की छत के रास्ते से घर के अंदर घुस गए।

इस दौरान बदमाशों ने मां बेटे को जगाकर तिजोरी की चाबी मांगी, जब चाबी देने से मना किया तो सशस्त्र बदमाशों ने मा-बेटी की जमकर मारपीट की। इस हमले में लीला देवी यादव और उनका पुत्र विकास यादव जख्मी हो गये। इस दौरान बदमाशों ने अलमारी में रखे सोने चांदी के गहने और नगदी समेटी और मकान के मेन गेट से आसानी से निकल कर भाग गए। जख्मी पड़े बेटे को होश आने पर उसने इस घटना की सूचना तत्काल कैलारस थाना पुलिस को दी।

सूचना मिलते ही थाना प्रभारी अवनीश राठौर मय दल बल के मौके पर पहुंचे गए। उन्होंने तत्काल घायलों को उपचार के लिये अस्पताल पहुंचाया। लीला देवी की नाजुक स्थिति को देखते हुए उसे ग्वालियर के लिए रेफर कर दिया गया। फिलहाल पुलिस ने अज्ञात बदमाशों के खिलाफ मामला दर्ज कर उनकी तलाश शुरू कर दी है। मौके पर पहुंचे अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हंसराज सिंह ने बताया कि फरियादी विकास यादव की रिपोर्ट पर मामला दर्ज कर लिया है। बदमाशों की गिरफ्तारी के लिये छापा मार कार्रवाई जारी है। पुलिस संदिग्धों और अंचल के शातिर बदमाशों को दबोचने में जुट गई है। जिससे कि इस डकैती के मामले का खुलासा किया जा सके।अज्ञात बदमाशों ने लीला देवी और विकास के घर में घुसते ही तिजोरी की चाबी मांगी थी न देने पर इनके साथ मारपीट की । उसका लॉक अभी भी लगा हुआ है। इससे जाहिर होता है कि बदमाश ज्यादा माल नहीं ले गये।

इस दौरान बदमाश अलमारी में रखे कुछ जेवरात और नगदी ले गये हैं, जिसकी कीमत फरियादी विकास यादव ने डेढ लाख रूपये बताई है। जबकि विकास के अन्य परिजनों का कहना है कि इस मामले में पांच लाख से अधिक का माल बदमाश ले गये हैं। इस डकैती में बदमाश कितना कीमती माल ले गये इसका खुलासा तो फरियादी विकास की मां के आने के बाद ही पता चलेगा कि अलमारी में क्या-क्या रखा था। क्योंकि तिजोरी की चाबी घायल लीला देवी के पास है । जिसको उसका पुत्र व पति दोनों ही नहीं ढूंढ पाये हैं। तिजोरी खुलने के बाद ही माल कितने का गया है तभी खुलासा हो सकेगा। फिलहाल पुलिस बदमाशों की धरपकड़ करने में लगी हुई है ।