मुरैना, संजय दीक्षित| कलेक्टर के आदेश अनुसार नगर निगम कमिश्नर (Municipal Commissioner) के निर्देशन में आज जौरा रोड पर जेसीबी की मदद से दुकानदारों की बनी झुग्गी झोपड़ियों को तहस-नहस कर दिया गया| सुमावली विधायक अजब सिंह (Sumawali MLA Ajab Singh) ने मोके पर पहुंच कर कड़ा विरोध किया। उन्होंने कहा है कि नगर निगम द्वारा बिना किसी सूचना के बांस बल्ली से बनी दुकानों को तहस-नहस कर दिया है अगर दुकानों को तोड़ना ही था तो 2 दिन पहले सूचना दी जानी चाहिए थी, लेकिन बिना किसी सूचना के कार्रवाई करते हुए नगर निगम के अमले ने जेसीबी से दुकानो को तोड़कर नुकसान किया है।

उन्होंने कहा कुछ दुकानदार तो अपने हाथों से बांस बल्ली निकालकर सुरक्षित जगह पर रख रहे थे लेकिन नगर निगम के अमले ने जबरदस्ती से कई दुकानदारों पर जेसीबी चलाकर उनके आशियाने को तोड़ दिया। इसके साथ ही कंट्रोल रूम के बगल से बनी हुई मंदिर के पुजारी की बाथरूम को भी जेसीबी द्वारा तहस-नहस कर दिया गया । मंदिर के पुजारी का कहना था कि अगर तोड़ना ही है तो बाजार के बने सरकारी मकानों को तोड़ना चाहिए था। इसके बाद नगर निगम के अमले ने जौरा रोड पर तोड़फोड़ की कार्यवाही की। दुकानदारों ने तोड़फोड़ का विरोध किया|

सुमावली विधायक अजब सिंह कुशवाहा ने पत्रकारों को बताया कि नगर निगम के अधिकारी द्वारा जानता के साथ पक्षपात किया जा रहा है। नगर निगम के द्वारा बांस बल्ली की बनी दुकानें तोड़ी गई तो उसे दिखाने के लिए विधायक को अपने साथ ले गए। वहीं इस पूरे मामले में सुमावली विधायक अजब सिंह कुशवाहा का कहना है कि नगर निगम के अमले ने बिना सूचना के तोड़फोड़ की हैं और अवैध वसूली कर रहे हैं ₹10 की रसीद पर 50 से ₹100 ले रहे हैं ।50 रुपए लेने के बावजूद दुकानो को तोड़ा जा रहा है । अगर ऐसा किया गया है तो नगर निगम कमिश्नर और एचओ ललित शर्मा के खिलाफ बड़ा आंदोलन किया जाएगा । नगर निगम के अधिकारियों की शिकायत कलेक्टर से की जाएगी ।

उन्होंने कहा नगर निगम में इतनी भ्रष्टाचारी है कि अवैध वसूली करने से बाज नही आ रहे हैं। मुरैना में किसी ईमानदार अधिकारी की पोस्टिंग की जाए और भ्रष्टाचार अधिकारियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए। अगर नगर निगम को वसूली करना ही है तो ₹10 के हिसाब से वसूली करें । नगर निगम के अधिकारी एचओ ललित शर्मा शराब पीकर भयंकर तरीके से गाली गलौज कर रहे थे। कलेक्टर को ऐसे अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए । अगर ऐसे अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई तो मैं गरीब जनता के साथ मिलकर ईट से ईट बजा दूंगा।