कलेक्टर की दो टूक- पद के अनुरूप करें काम वरना नौकरी से धोना पड़ेगा हाथ

मुरैना । संजय दीक्षित।

मुरैना कलेक्टर प्रियंका दास ने जिले के समस्त स्वास्थ्य कर्मियों को स्पष्ट निर्देश दिये कि कर्मचारी को पद के अनुरूप कार्य करना होगा। अन्यथा उसके विरूद्ध निलंबन या सेवा समाप्ति की कार्यवाही की जावेगी। इसके बाद वह जिन्दगी भर तक कोर्ट कचेरी के चक्कर लगाता रहे, किन्तु उसकी बात को तब्बजो नहीं दी जावेगी।

शासन कार्य प्राथमिक से कराना चाहती है, जिसे आॅनलाइन के माध्यम से समय पर करना सभी कर्मचारियों का दायित्व है। कलेक्टर ने नाराजगी व्यक्त की और ठीक से कार्य नहीं होेने पर वीसीएम सबलगढ़ श्रीमती सीमा जादौन का जनवरी माह का वेतन आहरित नहीं करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य कर्मचारी कार्य के प्रति सजग रहें आॅनलाइन कार्य फीडिंग में कोताही बरदास्त नहीं होगी। बैठक में कलेक्टर ने बताया कि विगत दिवस समाचार पत्रों में प्रसव के दौरान महिला को रात्रि 1 बजे जिला चिकित्सालय से ग्वालियर के लिये रैफर किया गया था, उस महिला की रास्ते में ही डिलेवरी हो गयी थी। ऐसी घोर लापरवाही मानते हुये चिकित्सालय में पदस्थ संविदा डाॅ. निकिता सिंघल का 15 दिवस का वेतन काटने के निर्देश दिये।

कलेक्टर श्रीमती प्रियंका दास ने आरसीएच पोर्टल की समीक्षा की, जिसमें पोर्टल पर संतोषजनक प्रविष्ट नहीं होने पर 7 एएनएम के खिलाफ नोटिस एवं वेतन काटने के निर्देश दिये है। जिसमें बानमौर सर्किल की डाॅ. वीरेन्द्र मुंगी, सुश्री लक्ष्मी चन्देल, सुश्री प्रीति शर्मा, सुश्री रेखा मिश्रा, सुश्री शशी शर्मा, सुश्री ऊषा सिलावट, सुश्री माल्ती बाथम के खिलाफ कार्यवाही करने के निर्देश दिये है और उन्हें स्पष्ट निर्देश दिये है कि टेबलेट नहीं होने पर कम्प्यूटर सेन्टरों पर पोर्टल पर फीडिंग करायें, या टेबलेट क्रय कर प्राप्त लक्ष्य को पूर्ण करावें।।