थाने में हनुमान चौखट पर बाबा, मामला सुलझाने में लगी पुलिस

आँखों में आंसू लेकर वह मूर्ति को थाने से वापस लेने की गुहार लगा रहा है। लेकिन पुलिस के आला अफसर उसे मूर्ति वापस देने का भरोसा दिए जा रहे हैं।

मुरैना, संजय दीक्षित। मुरैना (morena) जिले के सिविल लाइन थाना क्षेत्र सिलाई गांव में रघुनाथ बाबा नाम के एक साधू ने शनिवार को हनुमान जयंती के दिन पत्थरों का एक कच्चा चबूतरा बनाकर हनुमानजी की मूर्ति स्थापित कर दी थी लेकिन दूसरे ही दिन यानी रविवार को कुछ ग्रामीणों ने शिकायत कि की कुछ बाहरी लोग सरकारी जगह पर कब्जा करने की नीयत से हनुमानजी की मूर्ति स्थापित कर रहे हैं, इस कारण गांव में विवाद हो सकता है।

यह भी पढ़े…शासकीय योजनाओं में 7 जिलों का बेहतर प्रदर्शन, आमजन-किसानों को मिलेगा लाभ, पिछड़े जिलों को CM के निर्देश

आपको बता दें कि इस शिकायत के बाद प्रशासन ऐसी हरकत में आया, कि रविवार की सुबह हनुमानजी की मूर्ति को चबूतरे से उठा लाया और सिविल लाइन थाने के आसपास कमरे में बंद करके रखवा दिया हैं। लेकिन अब मंदिर का साधू रघुनाथ बाबा रविवार से ही थाने की चौखट पर बैठा हुआ है। आँखों में आंसू लेकर वह मूर्ति को थाने से वापस लेने की गुहार लगा रहा है। लेकिन पुलिस के आला अफसर उसे मूर्ति वापस देने का भरोसा दिए जा रहे हैं।

यह भी पढ़े…फ्रॉड कंपनी का खाता खुलवाने वाला इंदौर पुलिस की गिरफ्त में, बड़े लेन – देन की जानकारी आई सामने।

यह कार्रवाई इसलिए भी चर्चाओं में है क्योंकि मुरैना जिले में डा. आंबेडकर की प्रतिमाएं लगाकर, लगातार जमीनों पर कब्जे व विवाद हो रहे हैं। पर जिला प्रशासन ऐसी एक भी आंबेडकर प्रतिमा को बताने में नाकाम साबित रहा है अब देखना होगा क्या पुलिस प्रशासन हनुमान जी की मूर्ति को वापस करेगा या फिर बाबा यूं ही उठाने की चौखट पर आंसू बहाता रहेगा।