Morena News : अटल प्रोग्रेस वे को लेकर किसानों की नाराजगी, उतरेंगे सड़क पर

एक्सप्रेस वे सिर्फ पूंजीपतियों को लाभ दिलाने के लिए बनाया जा रहा है इससे आम आदमी को कोई भी लाभ मिलने की अपेक्षा नहीं है।

Morena Atal Progress-Way News : अटल प्रोग्रेस-वे के लिए जिले में कार्य शुरू किया जाना है। नया प्रोग्रेस-वे 306.201 किमी लंबाई का होगा जोकि भिंड से लेकर श्योपुर तक बनेगा। यह भिंड के 41, मुरैना 110 और श्योपुर के 27 गांव से निकलेगा। मुरैना विकासखंड के गांवों का सर्वे हो चुका है। जिसमें कि कई किसानों की उपजाऊ भूमि पर यह एक्सप्रेस वे बनेगा। बस इस अटल प्रोग्रेस वे का कार्य शुरू होने को ही है तभी हाल ही में इस प्रोग्रेस वे के बीच में नई परेशानी आना शुरू हो गई है मुरैना के सभी विकास खंडों में जहां से यह अटल प्रोग्रेस वे होकर निकलेगा वहां के किसानों ने सरकार के खिलाफ एक आंदोलन छेड़ दिया है जिसमें की किसानों ने उनकी अति उपजाऊ भूमि को छोड़कर किसी और स्थान पर इस प्रोग्रेस वे को बनाने की बात कहीं जा रही है एक्सप्रेस वे को लेकर मुरैना विकासखंड के सभी जगहों पर किसान आंदोलन करने पर आमादा है।

यह है पूरा मामला

किसानों का कहना है कि हम अपनी उपजाऊ भूमि को इस एक्सप्रेस वे के लिए दान नहीं करेंगे। इस आंदोलन को आगे बढ़ाते हुए, मुरैना विकास खंडों में जगह-जगह पर बहुतायत मात्रा में इकट्ठा होकर किसानों ने इसके खिलाफ एसडीएम को आवेदन सौंपा है। किसानों द्वारा बताया गया कि 26 जनवरी को वह संयुक्त किसान मोर्चा का आह्वान करते हुए झंडा वंदन करने के बाद पूरे जिले में ट्रैक्टरों द्वारा रैली का आयोजन किया जाना है। किसानों ने कहा की यह एक्सप्रेस वे सिर्फ पूंजीपतियों को लाभ दिलाने के लिए बनाया जा रहा है इससे आम आदमी को कोई भी लाभ मिलने की अपेक्षा नहीं है।

किसानों ने सरकार को दी चेतावनी

किसानों द्वारा सरकार को कड़े शब्दों में कहा गया कि अगर जोर जबरदस्ती से हमारी बहु उपजाऊ जमीन छिनने ने की कोशिश की गई तो यह आंदोलन पूरे भारतवर्ष में बहुत बड़ी मात्रा में दिखाई देगा चक्का जाम वह हिंसक आंदोलन की भी चेतावनी किसानों द्वारा सरकार को दी गई। देखना यह है कि इस एक्सप्रेस वे के लिए क्या सरकार उपजाऊ जमीनों पर जोकि हर साल करोड़ों लोगों का पेट भरण पोषण करती है इस बात को ध्यान में रखते हुए क्या जेसीबी चला पाएगी या नहीं।
मुरैना से नितेंद्र शर्मा की रिपोर्ट