मुरैना, संजय दीक्षित। मुरैना (Morena) के वन विभाग (Forest department) के रिटायर मृत चौकीदार ओमप्रकाश शांडिल्य के पुत्र तरुण शर्मा ने विभाग पर आरोप लगाए हैं। बेटे ने कहा कि वो पिता के रिटायरमेंट के पैसे के लिए विभाग आनाकानी कर रहा है। साथ ही हम पर सरकारी क्वाटर खाली करने का दबाब भी बनाया जा रहा है।

यह भी पढ़ें…Strawberry Moon 2021: गुरुवार को आसमान में दिखेगा स्ट्रॉबेरी मून, जानें इसका रोचक रहस्य

वन विभाग के चौकीदार ओमप्रकाश शांडिल्य की मौत के बाद उनके पुत्र ने विभाग पर आरोप लगाए हैं। स्वर्गीय शांडिल्य की मौत सप्ताह भर पहले हार्ट अटैक से वन मंडलाधिकारी ऑफिस में बने सरकारी कमरों में हुई थी। उनके पुत्र ने बताया कि जिस समय उनके पिता को अटैक आया था विभाग के कर्मचारी कोई भी उनको अस्पताल ले जाने के लिए शासकीय वाहन तक उपलब्ध नहीं करा सका था। हालत अधिक बिगड़ने पर उस समय मौजूद विभाग के रिटायर कर्मचारी राजेन्द्र कटारे ने उन्हें अपनी गाड़ी में ले जाकर अस्पताल में पहुंचे थे। ओमप्रकाश शांडिल्य के पुत्र तरुण ने बताया कि उनके पिता पैसों की कमी से बहुत परेशान रहते थे। उनके अलावा घर में दो छोटी बहने भी हैं। बड़ी बहन 21 वर्ष की है तथा छोटी बहन 16 वर्ष की है। पिता ने बड़ी बहन की शादी तय कर दी थी। लेकिन पैसा न होने की वजह से शादी नहीं कर सके। विभाग ने उनको रिटायर होने के बाद दिए जाने वाले सभी देयक भत्तों को नहीं दिया था। उनके पिता चाहते थे कि अगर विभाग उनके पैसों का भुगतान कर दे तो वे बेटी की शादी बड़े हर्षोउल्लास के साथ कर दें। लेकिन भगवान को कुछ और ही मंजूर था।

तरुण शर्मा ने एमपी ब्रेकिंग से बात कर बताया कि उनके पिता के रिटायर होने के बाद उनसे शासकीय क्वार्टर खाली करने का दवाब बनाया जा रहा है। यह भी कहा गया था कि अगर क्वार्टर खाली नहीं किया तो हर माह सात हजार रुपए किराया लिया जाएगा। अटैक आने से पहले पिता दिन भर वन विभाग की ऑफिस में बैठे रहते थे। वे रिटायरमेन्ट का पैसा निकालने के लिए कभी डीएफओ के पास जाते तो, कभी बड़े बाबू के पास चक्कर काटते रहते थे। वह चाहते थे कि जल्द से जल्द उनका पैसा मिल जाए तो वह न केवल बड़ी बेटी की शादी कर दें, बल्कि वापस सबलगढ़ अपने घर चले जाएं।डीएफओ साहब, अगर पैसा दे देते तो दीदी की शादी हो जाती। मृत्यु वाले दिन भी पाप एक घंटा ऑफिस में बैठकर आये थे। इस संबंध में अपर प्रधान मख्य वन संरक्षक शशि मलिक से बात की तो उन्होंने बताया कि मृतक के परिजनों को जल्द से जल्द भुगतान कर दिया जाएगा। जिससे उनको कोई परेशानी न हो।