morena

मुरैना, संजय दीक्षित जिला अस्पताल (Hospital) में अल्ट्रासाउंड के नाम पर रुपयों की अवैध वसूली करने वाली आशा कार्यकर्ता के खिलाफ काफी शिकायतें दर्ज की गई हैं लेकिन कार्यवाही के नाम पर अस्पताल प्रबंधन मौन बना हुआ है।आज शुक्रवार को फिर मुरैना (Morena ) के जिला अस्पताल में आशा कार्यकर्ता ने एक युवक से महिला का अल्ट्रासाउंड कराने के नाम पर ₹200 ऐंठे। इसकी शिकायत मिलने पर आरएमओ मौके पर पहुंचे।जहाँ मामले को संज्ञान में लेते ही अस्पताल प्रबंधक डॉ धर्मेंद्र गुप्ता मौके पर पहुंचे और रिश्वत के नाम पर ₹200 लेने वाली महिला को रंगे हाथों पकड़ लिया।

यह भी पढ़े… Coronavirus : इस जिले में फिर लगाया गया लॉकडाउन, यहां नाइट कर्फ्यू का ऐलान

जानकारी के अनुसार, मुरैना (Morena) में महादेवी पत्नी राजेश जाटव उम्र 60 साल निवासी महावीर पुरा जिला अस्पताल में आशा कार्यकर्ता के नाम पर शकील पत्नी परवीन बेगम से ₹200 अल्ट्रासाउंड कराने के नाम से ले लिए थे। पैसों के लेन-देन का वीडियो भी आया है। जिसमें अल्ट्रासाउंड (Ultrasound) कराने के नाम से महादेवी ने शकील से ₹200 लिए और मामले के बारे में पता लगने पर उसने ₹200 तुरंत उसको वापस कर दिए।

वहीं इस पूरे मामले में महादेवी जाटव का कहना है कि जिला अस्पताल में अल्ट्रासाउंड के नाम पर कई आशा कार्यकर्ता पैसों की लूट खसोट कर रही हैं। इनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जाती है ।अल्ट्रासाउंड के नाम पर जो पैसे लिए जाते हैं उनमें से आधा हिस्सा अल्ट्रासाउंड करने वाले अधिकारी सोम को भी दिए जाते हैं।

यह भी पढ़े… VIDEO : कमलनाथ के समर्थन में उतरे दिग्विजय सिंह, बोले- भोपाल में रहूंगा

इसके बाद ही महिलाओं का जल्दी नंबर लगाया जाता है। अगर पैसे नहीं दिए तो उनको काफी दिनों तक घुमाया जाता है। जिसके पैसे अल्ट्रासाउंड के चेंबर में पहुंच जाते हैं। उसके अंदर से लिस्ट बनाकर बाहर भेजी जाती है और अल्ट्रासाउंड कराने वाली महिला का नाम बोला जाता है।आरएमओ(RMO) धर्मेंद्र गुप्ता ने महिला को पकड़कर अस्पताल चौकी के सुपुर्द कर दिया हैं।