करंट की चपेट में आने से मां-बेटे की मौत

इस घटना के बाद से लोगों में बिजली कंपनी को लेकर आक्रोश फूट पड़ा है

मुरैना,संजय दीक्षित। मुरैना सिटी कोतवाली थाना (Morena City Kotwali Police Station) क्षेत्र के आजाद नगर में छत पर भरे पानी को निकालते समय महिला करंट की चपेट में आकर झटपटाने लगी। तभी तड़पती हुई मां को बचाने के लिए 12 साल का बेटा दौड़ा, लेकिन उसे भी करंट ने अपनी चपेट में ले लिया। दोनों की करंट से झुलसकर मौत हो गई। दिल दहला देने वाली यह घटना रविवार की दोपहर आजाद नगर, वासुदेव कॉलोनी में हुई है। इस घटना के बाद से लोगों में बिजली कंपनी को लेकर आक्रोश फूट पड़ा है, क्योंकि कॉलोनी के कईयों घरों की छत और छज्जे पर बिजली के तार झूल रहे हैं।

यह भी पढ़े…यहां पढ़िए 7 अगस्त की मध्य प्रदेश की सभी बड़ी खबरें, केवल एक क्लिक पर

बता दें कि माधोपुरा पुलिया के पास आजाद नगर वासुदेव कॉलोनी में रहने वाले ट्रक ड्राइवर सुनील गोस्वामी के मकान की छत पर डेढ इंच का संकरा पाइप पानी निकासी के लिए लगा हुआ था। रविवार की सुबह से दोपहर तक रुक-रुककर हुई बारिश के कारण सुनील के मकान की छत पर पानी भर गया। इसी पानी को निकालने के लिए सुनील की पत्नी मनीषा गोस्वामी उम्र 35 साल दोपहर 1 बजे छत पर चढ़ी और पाइप में बारिश के पानी के साथ कचरा अटका दिखा तो मनीषा ने आरसीसी निर्माण में उपयोग होने वाले सरिया की छड़ उठाई, जिससे पाइप में फंसे कंचरे काे निकालने लगी।

यह भी पढ़े…सावन का अंतिम सोमवार कल, इन राशियों पर बरसेगी भगवान शिव की कृपा, होगा लाभ, जरूर करें ये काम

इसी दौरान लोहे का सरिया पाइप से निकलकर घर के बाहर से गुजरे हाईटेंशन लाइन के तार से टकरा गया। बिजली लाइन से सरिया टकराते ही मनीषा करंट से झटपटाने लगी,मनीषा के साथ छत पर उसका 12 साल का बेटा कlन्हा भी था। मां को झटपटाते देख, कान्हा बचाने के लिए दौड़ा, तभी कान्हा ने मां के हाथ से चिपके सरिया को छुड़ाने का प्रयास किया तो वह भी करंट से चिपक गया।

यह भी पढ़े…Commonwealth Games 2022 : निखत जरीन ने दमदार पंच जमाकर किया गोल्ड मेडल पर कब्जा

कान्हा को इतना भीषण करंट लगा कि उसके एक पांव के मांस के चीथड़े उड़ गए और हड्डी निकल आई। स्वजनाें को जब तक इसकी खबर लगी, तब तक मां-बेटे की मौत हो चुकी थी। बेटे के शव को परिजनों की मदद से जिला अस्पताल पहुंचाया गया डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया उसके बाद मां बेटे के शव को पीएम हाउस में भिजवा दिया गया है।

यह भी पढ़े…Whatsapp के ये फीचर्स बना देंगे आपकी चैटिंग मजेदार, बढ़ेगी Admin की पॉवर, जानें यहाँ

कोतवाली पुलिस ने इस मामले में मर्ग का मामला दर्ज किया और शवों के पाेस्टमार्टम करवाने के बाद स्वजनों को सौंप दिया। हादसे की जानकारी मिलते ही मुरैना विधायक राकेश मावई ने मृतकों के स्वजनाें को 10-10 हजार रुपये की आर्थिक मदद देने का भरोसा दिया और कहा कि शासन से मिलने वाली मदद भी जल्द दिलवाई जाएगी।