MP: लापरवाही पर गिरी गाज, कलेक्टर ने 5 पंचायत सचिवों को किया तत्काल प्रभाव से निलंबित

विभागीय अफसरों को सख्त चेतावनी देते हुए कलेक्टर अनुराग वर्मा ने कहा कि जिस विभाग की शिकायत उनके पास पहुंचेगी। उस अधिकारी पर कार्रवाई की जाएगी।

betul

मुरैना/ खंडवा, डेस्क रिपोर्ट। कार्य के प्रति लापरवाही बरतने वाले को लेकर मध्य प्रदेश सरकार (Madhya pradesh government) बेहद सख्त और गुस्से में नजर आ रही है। अधिकारियों से लेकर जिला कलेक्टर (collector) तक को ये आदेश दिए गए हैं कि लापरवाही बरतने वाले लोगों पर सख्त कार्रवाई की जाए। इसी बीच मध्य प्रदेश के मुरैना (muraina) जिले में कलेक्टर ने 5 पंचायत सचिवों को कार्य में अनियमितता के कारण तत्काल प्रभाव से निलंबित (suspend) कर दिया है।

दरअसल मध्य प्रदेश के मुरैना जिले में कलेक्टर अनुराग वर्मा (anurag verma) ने जिला मुख्यालय पहुंचकर आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Yojna) की समीक्षा बैठक की। बैठक के दौरान उन्होंने कार्य की अनियमितता एवं लापरवाही पर जमकर कर्मचारियों को फटकार लगाई। इतना ही नहीं लक्ष्य के अनुरूप कार्य ना होने पर उन्होंने मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत से संबंधित 5 ग्राम पंचायतों के सचिवों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया।

कलेक्टर अनुराग वर्मा ने जिन पंचायत सचिवों को निलंबित किया है। उनमें पोरसा विकासखंड की महदौरा के पंचायत सचिव विजय प्रताप सिंह, बिजलीपुरा के पंचायत सचिव पंकज सिंह नरवरिया, चांदपुरा के शिव नारायण सिंह तोमर और गूंज के रणवीर सिंह तोमर सहित अम्बाह विकासखंड की ग्राम पंचायत तुतवास के पंचायत सचिव ब्रजराम सिंह तोमर को निलंबित किया है। वही उनके जगह पर ग्राम पंचायत के रोजगार सहायक को अतिरिक्त प्रभार दिया गया है।

Read More: मध्यप्रदेश के इस जिले में 28 दिसंबर से लागू रहेगी धारा 144, ये है बड़ा कारण

इतना ही नहीं समीक्षा बैठक में कलेक्टर अनुराग वर्मा ने कर्मचारियों को सख्त हिदायत दी है कि जिन योजना की समीक्षा मुख्यमंत्री द्वारा की जाती है। ऐसे सभी योजनाओं का समाधान तत्काल किया जाए। इसके साथ ही सीएम हेल्पलाइन भी निराकरण किया जाए। विभागीय अफसरों को सख्त चेतावनी देते हुए कलेक्टर अनुराग वर्मा ने कहा कि जिस विभाग की शिकायत उनके पास पहुंचेगी। उस अधिकारी पर कार्रवाई की जाएगी।

दूसरी तरफ उन्होंने अधिकारियों को सख्त चेतावनी दी है कि 4 जनवरी को मुख्यमंत्री की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग है। जिसके लिए अधिकारी पूरी तरह से तैयार है। वही कलेक्टर अनुराग वर्मा ने कहा कि स्ट्रीट वेंडर योजना मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के प्राथमिक योजना है। जिसके लक्ष्य को तत्काल पूरा किया जाए।

खंडवा में अनियमितता पर कार्रवाई 

वहीं दूसरी तरफ मध्य प्रदेश के खंडवा जिले में शासकीय योजनाओं में अनियमितता पाए जाने पर जिला पंचायत सीईओ रोशन कुमार सिंह ने ग्राम पंचायत के पंचायत सचिव संजय यादव को निलंबित करने के आदेश जारी कर दिए हैं।

इस मामले में जिला पंचायत के सीईओ रोशन सिंह का कहना है कि जमानिया निवासी संतराम की मृत्यु पिछले वर्ष हुई है। कर्मकार मंडल योजना में मृतक का पंजीयन था जबकि पंचायत सचिव ने मृतक का आवेदन संबल योजना के तहत प्रस्तुत किया। जिससे पीड़ित परिवार को समय पर भुगतान नहीं किया जा सका। जिसके बाद पंचायत सचिव की लापरवाही के कारण उन्हें निलंबित किया गया है।

वही निलंबन की अवधि तक पंचायत सचिव संजय यादव का मुख्यालय जनपद पंचायत खालवा रहेगा और शासन नियम अनुसार उन्हें जीवन निर्वाह भत्ता प्राप्त करने की पात्रता होगी।