MP News : प्रशासन की नाक के नीचे शादी समारोह में फायरिंग करने के वीडियो सोशल मीडिया पर हो रहे वायरल, आरोपी फरार

फायरिंग करने वाले लोगों के खिलाफ पुलिस ने शुक्रवार की दोपहर तक कोई मामला दर्ज नहीं किया है।

मुरैना, संजय दीक्षित। मध्यप्रदेश के मुरैना (Morena) जिले में शादी समारोह में फायरिंग (Firing) की खबरें आ रही है, जबकि प्रशासन के द्वारा फायरिंग करने से मना करने के बावजूद भी लोग फायरिंग करने से बाज नहीं आ रहे हैं, बीती रात को एक ऐसा ही मामला गुलाब गार्डन में देखने को मिला जहां विवेक राजपूत पुत्र नेत्रपाल राजपूत निवासी चैना के लड़के की बरात गुरुवार की देर शाम को गुलाब गार्डन में पहुंची थी, जिसके बाद रात को डीजे पर डांस का कार्यक्रम चल रहा था उसी समय नरेश यादव और गुलाब यादव के द्वारा पिस्टल से फायरिंग की गई ,जब दूल्हे के पिता नेत्रपाल ने मना किया तो धक्का-मुक्की करते हुए मौके पर पुलिस को बुलाया गया। जिसके बाद पुलिस ने मौके पर जाकर दूल्हे के पिता को अरेस्ट करने के बाद थाने में बंद कर दिया गया।

MP News : प्रशासन की नाक के नीचे शादी समारोह में फायरिंग करने के वीडियो सोशल मीडिया पर हो रहे वायरल, आरोपी फरार

यह भी पढ़े…MP News : अमेरिकी खुफिया एजेंसी की टीम ने इंदौर पुलिस को किया धन्यवाद, कमिश्नर ऑफ पुलिस से की मीटिंग।

बताया गया है कि दूल्हे के परिजनों ने बीती रात पुलिस से दूल्हे के पिता को छोड़ने की काफी मिन्नत की लेकिन पुलिस के द्वारा दूल्हे के पिता को सिविल लाइन थाने में लाकर रात को बंद कर दिया गया और एफआईआर दर्ज करने की धमकी दी गई। बता दें कि फायरिंग करने वाले लोगों के खिलाफ पुलिस ने शुक्रवार की दोपहर तक कोई मामला दर्ज नहीं किया है।

यह भी पढ़े…अमेरिकी खुफिया एजेंसी की टीम ने इंदौर पुलिस को किया धन्यवाद, कमिश्नर ऑफ पुलिस से की मीटिंग।

इस मामले में पुलिस का कहना है कि फायरिंग करने वालों को बुलाया गया है मामले की जांच के बाद ही फायरिंग करने वालों के खिलाफ मामला दर्ज किया जाएगा। फायरिंग की घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। हर्ष फायरिंग के मामले में कई जगह अप्रिय घटना भी हो चुकी हैं बलेकिन इसके बावजूद भी फायरिंग करने वाले लोग शादी समारोह में फायरिंग करने से पीछे नहीं हट रहे हैं।बताया गया हैं कि दूल्हे के पिता नेत्रपाल पर फायरिंग करने वालों ने 5 तोले सोने की चैन की लूट की घटना को झूठा बताकर पुलिस को बुलाकर रात भर थाने में करवा दिया गया। उसके बाद सुबह छोड़ दिया गया है।