मगरमच्छ के मिलने से ग्रामीणों में दहशत, वन विभाग ने किया रेस्क्यू

मगरमच्छ नहर किनारे धीरे धीरे गेहूं के खेत मे पहुँच गया था। नहर में जानवरों को पानी पिलाने व नहाने के लिए जाने से लोग कतरा रहे थे।

मुरैना, संजय दीक्षित| देवगढ़ थाना क्षेत्र के नंदपुरा गाँव की नहर के पास खेत में मगरमच्छ (Crocodile) के मिलने से ग्रामीणों में दहशत का माहौल बन गया। जिसके बाद ग्रामीणों ने वन विभाग को सूचना दी।सूचना से मौके पर पहुंचकर वन विभाग के अधिकारियों ने नंदपुरा गांव में पहुंचकर नहर के पास बने गेंहू के खेत मे पहुंचकर अधिकारियों ने लाठी डंडों से रस्सी से बांधकर उसका रेस्क्यू (Rescue) किया। उसके बाद उसे चंबल राजघाट किनारे नदी में छोड़ दिया गया ।

जानकारी के अनुसार बुधवार की सुबह नंदपुरा गांव में नहर के किनारे होकर मगरमच्छ गेहूँ के खेत मे पहुंच गया था। मगरमच्छ को देखते ही ग्रामीण डर गए और वन विभाग को सूचना दी। ग्रामीणों की सूचना पर वन विभाग की टीम ने मगरमच्छ को पकड़ने के लिए रेस्क्यू चलाया। वन विभाग की टीम ने मगरमच्छ को काफी मशक्कत के बाद पकड़ा लिया।

मगरमच्छ नहर किनारे धीरे धीरे गेहूं के खेत मे पहुँच गया था। नहर में जानवरों को पानी पिलाने व नहाने के लिए जाने से लोग कतरा रहे थे। ग्रामीणों का कहना कि विभागीय अधिकारियों की लापरवाही से मगरमच्छ नहर में आ रहे हैं जो मानव जीवन के लिए घातक हैं।मगरमच्छ का पकड़कर राजघाट में चम्बल किनारे सुरिक्षत जगह पर छोड़ दिया। फिलहाल वन विभाग इस बात का पता लगाएगा कि मगरमच्छ कहाँ से आया हुआ है।