इलाज के दौरान गर्भवती महिला की मौत, परिजनों ने अस्पताल में किया हंगामा

मुरैना,संजय दीक्षित

सबलगढ़ में बीजेपी नेत्री के अस्पताल में गर्भवती महिला की संदिग्ध मौत को लेकर परिजनों ने हंगामा कर दिया। काफी देर तक हंगामा चलता रहा, परिजनों की मांग थी कि महिला का पोस्टमार्टम मेडिकल बोर्ड से कराया जाए लेकिन प्रशासन के दबाव के कारण उसका पोस्टमार्टम उप स्वास्थ्य केंद्र में ही कर दिया गया और महिला को उनके परिजनों को सुपुर्द कर दिया।

जानकारी के अनुसार अशर्फी पत्नी राकेश रावत उम्र 24 साल निवासी मांगरोल करीब पांच-छह महीने की गर्भवती थी और प्राइवेट केडी शर्मा नर्सिंग होम में चेकअप कराने के लिए आई थी। उन्हें डॉक्टर राजेश शर्मा के द्वारा भर्ती करा दिया गया था लेकिन डॉक्टर मरीज को भर्ती करने के बाद किसी शासकीय कार्य से कहीं चले गए। इसके बाद महिला की हालत बिगड़ गई जब उसकी हालत बिगड़ी हुई देखी तो निजी नर्सिंग होम के कंपाउंडर ने महिला का उपचार शुरू कर दिया। थोड़ी देर में उपचार के बाद महिला की तबीयत ज्यादा बिगड़ गयी। इसपर निजी अस्पताल के स्टाफ ने महिला को उपचार के लिए शासकीय अस्पताल में भर्ती करा दिया गया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। इस मामले में परिजनों का कहना था कि प्राइवेट नर्सिंग होम में ही मौत हो गई थी लेकिन सरकारी अस्पताल में उसको शिफ्ट कर दिया गया था। इसी बात को लेकर काफी नोकझोंक हुई और हंगामा चलता रहा।इस दौरान निजी अस्पताल का स्टाफ और डॉक्टर गायब हो गए। हंगामे की सूचना मिलते ही भारी संख्या में पुलिस बल पहुंच गया। काफी देर बाद प्रशासन के दबाव के कारण परिजनों ने उसका मेडिकल वहीं अस्पताल में करा दिया और मृत महिला के शव को लेकर वापस अपने घर चले गए। पुलिस थाना सबलगढ़ में मर्ग कायम कर मामले को विवेचना में ले लिया गया है।