VIDEO: संत की चेतावनी- शराब बन्द नही हुई तो…वीडियो वायरल, शिव-नाथ से अपील

महापंचायत में संत हरीगिरी ने शराब कारोबारियों को चेतावनी देते हुए कहा कि जो पंचायत मध निषेध है वहां दारु नहीं पहुंचना चाहिए। "अन्यथा ठेका टूटेंगे और मांस मरी की नौबत आएगी"। जिसके लिए वे स्वयं जिम्मेदार होंगे।

मुरैना, संजय दीक्षित। संत हरी गिरी महाराज ने शनिवार को चंबल के विंडवा घाट पर सर्व समाज की महापंचायत को संबोधित किया। महापंचायत को संबोधित करते हुए संत हरि गिरि महाराज ने कहा कि समूचे मध्यप्रदेश में पूर्ण शराबबंदी महायज्ञ का आगाज 22 फरवरी से किया जा रहा है। यह आंदोलन किसी जाति विशेष के लोगों का नहीं है।

यह आंदोलन सर्व समाज के प्रयासों पर आधारित होगा। सर्व समाज के इस आंदोलन को सफल बनाने के लिए युवा बड़ी संख्या में आगे आकर दारू के खिलाफ सशक्त वातावरण तैयार करें। मध्य निषेध पंचायतों में दारू पहुंची तो ठेका टूटेंगे और मांस मरी की नौबत आ सकती हैं। इसलिए युवा शक्ति बड़ी संख्या में शराबबंदी अभियान में शामिल होकर शराब के खिलाफ मुहिम छेड़े। संत हरी गिरी ने यह भी कहा कि इस आंदोलन में किसी का नाम नहीं चलना चाहिए। जैसा कि पिछली बार हुआ था। राम जी के काज में काम की जरूरत है ना कि नाम की। शराब बंद होने पर इस अंचल के लोगों का नाम खुद ही रोशन होगा।

महापंचायत में संत हरीगिरी ने शराब कारोबारियों को चेतावनी देते हुए कहा कि जो पंचायत मध निषेध है वहां दारु नहीं पहुंचना चाहिए। “अन्यथा ठेका टूटेंगे और मांस मरी की नौबत आएगी”। जिसके लिए वे स्वयं जिम्मेदार होंगे। उन्होंने मीडिया से भी आव्हान किया कि वह पहले की तरह शराबबंदी आंदोलन को अपना समर्थन प्रदान करें। जहरीली शराब पीने से 24 लोगों की मौत का जिक्र करते हुए संत हरि गिरि महाराज ने कहा कि शराबबंदी में मुख्यमंत्री व पूर्व मुख्यमंत्री का सहयोग चाहिए क्योंकि अब यह आंदोलन बन्द होने वाला नहीं है।

Read More: 6 बीघा जमीन पर लहलहा रही थी अफीम की खेती, नारकोटिक्स ने चलाया बुलडोजर

इसलिए 2021 को शराबबंदी के रूप में सफल बनाने में सर्व समाज की हिस्सेदारी जरूरी है। शराबबंदी महायज्ञ की शुरुआत 22 फरवरी को ग्वालियर के सांतऊ शीतला मंदिर से शुरू की जाएगी। जिसमें संत महंत व जनता की पदयात्रा ग्वालियर से चलकर ऐंति पर्वत स्थित शनि मंदिर धाम पर पहुंचेगी। उसके बाद वहां से करह धाम पटिया वाले बाबा के आश्रम पर महापंचायत की जाएगी। महायज्ञ का समापन चंबल स्थित विंडवा घाट पर किया जाएगा। आखरी में संत गिरी महाराज ने कहा कि शिवराज सच्चे मामा है तो भांजों की मौत रोकने के लिए पूर्ण शराबबंदी को समर्थन दें।

इस महापंचायत में हजारों की संख्या में लोग एकत्रित थे। सभी ने शराबबंदी के समर्थन में हाथ उठाकर संत हरी गिरी महाराज को समर्थन दिया और कहा की होने वाली 22 तारीख को महापंचायत में हजारों नहीं लाखों की संख्या में संत समाज और युवा वर्ग के लोग पहुंचकर इस आंदोलन को सफल बनाएंगे।शराबबन्दी को लेकर संत हरगिरि महाराज का वीडियो भी जमकर वायरल हो रहा है।