मुरैना : एसडीओ ने एक महीने में जब्त की 20 ट्रैक्टर ट्रॉली, रेत माफियाओं में मचा हड़कंप

मुरैना जिले में जेसीबी की मदद से एसडीओ ने लाखों रुपए के डंपिंग रेत को कराया नष्ट किया है। एसडीओ की लगातार कार्रवाई से रेत माफियाओं में हड़कंप मच गया है।

मुरैना, संजय दीक्षित। जिले में एसडीओ के निर्देशन में टीम के द्वारा रेत माफियाओं (Sand Mafia) के खिलाफ हो रही ताबड़तोड़ कार्रवाई से हड़कंप मच गया है। जो ट्रैक्टर ट्रॉली दिनभर सरेआम फर्राटे मारते हुए नजर आते थे वे अब चोरी छिपे रेत निकल रहे हैं। एसडीओ श्रध्दा पांढरे (SDO Shraddha Pandhre) ने करीब एक महीने में 20 ट्रैक्टर ट्रॉली और लाखों रुपए के डंप रेत को नष्ट कर ट्रैक्टर ट्रॉलियों के खिलाफ राजसात की कार्रवाई की है।

यह भी पढ़ें:-बोले नरोत्तम – वैक्सीन पर भ्रम फैलाने वाले चोरी छुपे लगवा रहे हैं टीका

जिले में पहला मामला है जब महिला अधिकारी होने के नाते दिनदहाड़े अपनी जान हथेली पर रखकर माफियाओं से टक्कर ले रही हैं। जिसकी काफी लोगों ने सराहना की हैं। सोमवार रात वन विभाग की एसडीओ ने टीम के साथ वन डिपो के पास से अवैध रेत से भरे ट्रक और देवगढ़ थाने की नहर के पास से अवैध ट्रैक्टर ट्रॉली पकड़ने में सफलता हासिल की है। इसके बाद चिंनोनि थाने के पास बीहड़ और खेतों में रखा करीब 500 ट्रॉली, जिसकी कीमत लगभग 10 लाख रुपए के डंप रेत को जेसीबी की मदद से नष्टीकरण किया गया है। ग्रामीणों का कहना था कि काफी समय से डंप रेत पड़ा हुआ है, लेकिन पुलिस ने कोई भी कार्रवाई नहीं की है। सारा कुछ प्रशासन की मिलीभगत से चल रहा है। जिससे जलीय जीवों की मौत हो रही है।

यह भी पढ़ें:-पाबंदियों के साथ अनलॉक में दुकानें खोलने की छूट, प्रशासन के निर्देश प्रोटोकॉल का पालन हो

थाना प्रभारी जयदीप सिंह भदौरिया के इलाके में लाखों रुपए डंप रेत का होना कहीं न कहीं मिलीभगत की ओर इशारा करता है। जबकि प्रभारी का कहना है कि हमने ही वन विभाग को सूचना देकर डंप रेत को नष्टीकरण कराया है। वहीं सूचना मिलते ही राजस्व का अमला भी मौके पर पहुंच गया। मौके पर पहुंचे पटवारी का कहना है कि ये रेत किसका रखा हुआ है मुझे जानकारी नहीं है। अवैध डंप रेत के नष्टीकरण की सूचना रेंजर दीपमाला शिवहरे को दी गयी लेकिन उन्होंने फोन रिसीव नहीं किया है। वन विभाग के आलाअधिकारी और राजस्व अमले को डंप रेत की जानकारी थी लेकिन उन्होंने कोई भी कार्रवाई नहीं की। जिससे ऐसा लगता है कि इस रेत के अवैध डंपिंग में कहीं न कहीं अधिकारियों का सरंक्षण प्राप्त है जिससे उनके हौंसले बुलंद हैं।

लाखों की डंपिंग रेत नष्ट

इस पूरे मामले में एसडीओ श्रध्दा पांढरे का कहना है कि बीती रात वन डिपो के पास एक रेत से भरे ट्रक को पकड़ा गया और ड्राइवर मौके का फायदा उठाकर भाग गया। ये ट्रक ग्वालियर के अब्दुल खान निवासी मेवाती मोहल्ला का होना बताया गया है। इसके बाद देवगढ़ थाने के पास से रेत से भरी ट्रैक्टर ट्रॉली को पकड़कर थाने में सुपुर्दगी कर दी है। सूचना के बाद चिंनोनि थाने के ग्राम तिदोखर में जाकर देखा तो खेतों के पास काफी मात्रा में डंपिंग रेत रखा हुआ था जिसे दोनों जेसीबी की मदद से नष्ट किया गया है। जिसकी कीमत लाखों रुपए है।