परीक्षा निरस्त करने की मांग को लेकर छात्रों ने किया चक्काजाम, पुलिस अधीक्षक ने संभाला मोर्चा

मुरैना| संजय दीक्षित| Morena News जनरल प्रमोशन (General Promotion) को लेकर आज 12 वीं के छात्रों ने बैरियर चौराहे के पास एमएस रोड़ पर लेट कर चक्का जाम लगा दिया। जिससे रास्ते मे आने जाने वालों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। 9 जून से प्रारंभ होने वाली बारहवीं बोर्ड (MP Board) की परीक्षा (Exam) को निरस्त करने की मांग को लेकर सैकड़ों छात्रों ने बैरियर चौराहे पर न केवल चक्काजाम कर दिया बल्कि माध्यमिक शिक्षा मंडल और प्रदेश सरकार (State Government) के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

जाम की खबर लगते ही शहर कोतवाली अजय चानना मय दलबल के तत्काल मौके पर पहुँच गए। पुलिस अधकारियों के समझाने बाद सभी छात्र नहीं माने तो पुलिस अधीक्षक असित यादव और एसडीएम आरएस बाकना ने मौके पर पहुंचकर छात्रों को समझाया।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि कल 9 जून मंगलवार से बारहवीं वोर्ड की परीक्षा प्रारंभ हो रही है। जिसकी तैयारियां पूर्ण हो चुकी है। आज सुबह 10 बजे डेढ़ सैकड़ा छात्रों ने एकजुट होकर वैरियर चौराहे स्थित एमएस मार्ग पर नारेवाजी करते हुए जाम लगा दिया। जिससे काफी देर तक आवागमन अबरुद्ध रहा। हालांकि पुलिस नियंत्रण के बाद भी छात्र आंदोलित होते हुए और बैरियर चौराहे से कलेक्ट्रेट की तरफ जाने लगे। श्री यादव ने बताया कि छात्रों की मुख्य मांग बारहवीं की परीक्षा का वहिष्कार करना और जनरल प्रमोशन दिए जाने की मांग थी।

छात्र नेता अमन सिंह सिकरवार का कहना था कि जिस कोरोना वायरस को लेकर राज्य सरकार ने ढाई माह पूर्व बारहवीं की परीक्षा कह कर रद्द कराई थी कि परीक्षा के दौरान छात्रों में वायरस फैलने का खतरा है। श्री सिकरवार ने कहा कि पहले से ज्यादा कोरोना वायरस का खतरा तो अब है। पहले तो कोरोना के मरीज इतने नहीं थे जितने की अब है। परीक्षा के दौरान पर्यवेक्षक और केंद्राध्यक्ष कैसे पता लगाएंगे की कौन सा छात्र कोरोना संक्रमित है। अगर कोई एक भी छात्र या फिर पर्यवेक्षक कोरोना संक्रमित हुआ तो परीक्षा कक्ष में कितने छात्रों को यह वायरस अपनी गिरफ्त में ले सकता है। इसीलिये राज्य सरकार को चाहिये कि वो कक्षा 9 एवं 10 की तरह बारहवीं के छात्रों को भी जनरल प्रमोशन देने की तत्काल घोषणा करें। श्री सिकरवार ने कहा कि प्रदेश सरकार कुछ दिनों पूर्व बिना परीक्षा आयोजित कराए ही प्रदेश के नौंवी और दसवीं के लाखों छात्र छात्राओं को जरनल प्रमोशन दे चुका है फिर बारहवीं के छात्रों को क्यो नहीं यह एक विचारणीय प्रश्न है। प्रदेश सरकार के मुखिया शिवराज सिंह चौहान से मांग की है कि माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा 9 जून मंगलवार को आयोजित होने बाली बारहवीं की परीक्षा को रद्द कर प्रदेश के लाखों छात्र छात्राओं के भविष्य से खिलवाड़ न करते हुए जरनल प्रमोशन देने की घोषणा करें।भीम आर्मी के जिलाध्यक्ष भी मौके पर पहुंच गए।इस आंदोलन को देखते हुए एबीवीपी और भीम आर्मी के जिलाध्यक्ष ने कहा कि जो लोग चक्काजाम कर रहे है उन लोगों का किसी भी संघठन से कोई भी रिश्ता नही हैं।