भांजे ही निकले मामा के हत्यारे,मुंह में फेविक्विक डालकर की धारदार हथियार से हत्या

मुरैना, संजय दीक्षित। जिले की जौरा पुलिस ने एक अंधे क़त्ल (Blind murder)  की गुत्थी को सुलझा लिया है।  खास बात ये है कि हत्यारे मृतक के भांजे ही निकले। पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों ने मृतक के मुंह में फेविक्विक डालकर धारदार हथियार से हत्या कर शव को झाड़ियों में फेंक दिया था।

जानकारी के अनुसार जौरा थाना क्षेत्र के पगारा डैम के पास झाड़ियों में कुछ दिन पूर्व अज्ञात व्यक्ति का शव मिला था । मृत व्यक्ति के मुंह पर फेविक्विक था। आरोपियों ने  कपड़े से हाथ पैर बांधकर पेट व गले में धारदार हथियार से युवक की हत्या की थी। पुलिस ने मृतक के कपड़ों की तलाशी ली तो उसकी जेब में छोटी सी पर्ची मिली जिसपर लिखे नंबर से संपर्क कर मृतक की शिनाख्त हरिओम कुशवाह पुत्र झिगुरिया कुशवाह उम्र 26 साल निवासी झोंड का पुरा थाना सुमावली के रूप में की गई। पुलिस अधीक्षक अनुराग सुजानिया ने मामले को गंभीरता से लेते हुए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हंसराज सिंह के निर्देशन में एसडीओपी सुजीत सिंह भदौरिया  व उनकी टीम को जिम्मेदारी दी।

पुलिस ने जाँच में पाया कि मृतक हरिओम कुशवाह अपनी बहन की ससुराल ग्राम किशनपुर थाना माता बसैया में  एक युवती से कई महीनों से संपर्क में था। उक्त युवती की सगाई कुछ माह पूर्व ग्राम घूँघस जौरा के एक युवक से परिवारवालों ने तय कर दी थी। युवती के मंगेतर को जब पता चला कि उसकी मंगेतर का किसी युवक से अवैध संबंध है तो काफी मना करने के बाद भी युवक नहीं माना तो मृतक के भानजे, मंगेतर व अन्य साथी ने मृतक को ठिकाने लगाने की योजना बनाई। आरोपियों ने हरिओम कुशवाह को धोखे से जौरा बुलाया, उसके साथ मारपीट की  हाथ पैर बांधकर दो मोटर साइकिलों से पूरी तैयारी के साथ उसे पगारा डैम ले गए और रास्ते में युवक की चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी। मृतक की पहचान मिटाने के लिए मृतक का आधार कार्ड, पर्स, मोबाइल आदि रास्ते में ही जला दिया गया। उसके बाद मृतक के मुंह में फेविक्विक डालकर कपड़े से मुंह बंद करके हाथ पैर बांधकर गला काटकर उसकी हत्या कर दी। पगारा डैम पर हलचल होने से पकड़े जाने के डर से मृतक को पानी में ना फेंककर झाड़ियों में फेंक कर भाग गए। मृतक की हत्या करने में युवती का मंगेतर निवासी घूँघस थाना जौरा मृतक के सगे दो भांजे निवासी किशनपुर माता बसैया मंगेतर का एक अन्य साथी निवासी मंगू का पुरा थाना बागचीनी भी शामिल था। पुलिस ने हत्या के मामले में फरार आरोपी ब्रह्मजीत और मोनू निवासी  किशनपुर एवं दो अपचारी बालकों को गिरफ्तार किया है। उक्त कार्रवाई में थाना प्रभारी उप निरीक्षक देवेंद्र सिंह कुशवाहा,  माता बसैया थाना प्रभारी महेश शर्मा,प्रधान आर यशपाल चौहान,आर सर्वजीत सिंह,गजेंद्र और उनकी की टीम की सराहनीय भूमिका रही।