लॉकडाउन के बीच दुखद हादसा, दिल्ली से पैदल मुरैना आ रहे युवक की मौत

Engineer's-body-hanging-over-22-hours-in-cement-factory-in-rewa

मुरैना/संजय दीक्षित

लॉकडाउन में सारे आवागमन के साधन बंद हो जाने के बाद कई लोग पैदल ही मीलों दूर के सफर पर निकल पड़े हैं। अपने घर पहुंचने का उनके पास और कोई जरिया नहीं है इसीलिये रोज़ कमाने रोज़ खाने वाला ये तबका इस समय सबसे ज्यादा मुसीबत में है। और इसी बीच एक बेहद दुखद खबर आ रही है कि दिल्ली से मुरैना पैदल आ रहे युवक की रास्ते मे मौत हो गई है।

जानकारी के मुताबिर37 साल का रणवीर नाम का ये युवक दिल्ली के एक रेस्टारेंट में काम करता था और लॉकडाउन के बाद पैदल ही मुरैना अपने गांव बड़फरा के लिए निकला था। लेकिन शनिवार दोपहर आगरा में उसे सीने में दर्द की शिकायत हुई और इसके बाद उसकी मौत हो गई। मध्यप्रदेश में पैदल घर लौटने वाले लोगों में इस तरह की घटना के बाद प्रशासन में खलबली मच गई है।

रणवीर दिल्ली के तुगलकाबाद में एक रेस्टोरेंट में होम डिलीवरी का काम करता था।कोरोना के चलते सभी जगह लॉक डाउन की स्थिति निर्मित हो गयी है जिसके चलते रणवीर अपने दोस्तों के साथ दिल्ली से मुरैना की तरफ पैदल यात्रा कर रहा था। तभी आगरा के पास अचानक सीने में दर्द होने के बाद उसकी मौत हो गयी । सूचना मिलते ही रणवीर के परिजन आगरा पहुंच गए । डॉक्टर ने कहा कि शव का पीएम होने के बाद ही परिजनों को बॉडी सुपुर्द की जाएगी।