MP Weather : 5 संभागों और 32 जिलों में बारिश की चेतावनी, ग्वालियर-चंबल सहित 2 संभागों में ओलावृष्टि, गरज-चमक, आंधी, गिरेगा तापमान, जानें IMD पूर्वानुमान

मध्य प्रदेश में 30 जनवरी तक बारिश का सिलसिला जारी रहेगा। 5 संभागों में बारिश की चेतावनी जारी करते हुए गरज चमक ओलावृष्टि की चेतावनी जारी कर दी गई है ।वहीं कई जगह न्यूनतम तापमान में गिरावट देखी जाएगी।

MP Weather, IMD MP Weather : मध्यप्रदेश में फिलहाल 5 दिन तक बारिश का सिलसिला जारी रहेगा। पश्चिमी विक्षोभ का असर प्रदेश के सभी जिलों पर देखने को मिल रहा है। भोपाल में रुक-रुक कर हो रही बारिश से मौसम सुहावना बना हुआ है। दिनभर बादल छाए हुए हैं। इसके अलावा मंगलवार और बुधवार को कई जिलों में बारिश देखने को मिली है। रायसेन ग्वालियर के अलावा चंबल और विदिशा इलाके में भी बारिश से मौसम सुहावना बना हुआ है तापमान में गिरावट जारी है।

रायसेन जिले में कई जगह ओलावृष्टि देखने को मिली है। इसके अलावा गुरुवार को प्रदेश के अलग-अलग हिस्से में बारिश की चेतावनी जारी की गई है। सतना, रीवा, गुना, दतिया, छतरपुर और पन्ना में बारिश का अलर्ट जारी किया गया। इसके साथ ही ग्वालियर चंबल और भिंड गोहद तस्वीर में ओले गिरने का पूर्वानुमान जताया गया है। टीकमगढ़, देवास, मुरैना और गुना में भी बारिश की चेतावनी जारी कर दी गई है। लोगों को सतर्क रहने की सलाह दी गई है। 26 से 28 जनवरी के बीच बुंदेलखंड सागर और रीवा संभाग में भी बारिश की चेतावनी जारी की गई है जबकि ग्वालियर, इंदौर, भोपाल में गरज चमक और बिजली गिरने की संभावना भी जताई गई है।

5 संभागों में बारिश के आसार 

पश्चिमी विक्षोभ के कारण जनवरी के अंत तक ग्वालियर चंबल सहित 5 संभागों में बारिश के आसार जताए गए हैं। गणतंत्र दिवस और बसंत पंचमी के मौके पर भी बारिश की चेतावनी जारी करते हुए कहा गया कि शाम 5:00 बजे से एक बार फिर से मौसम में बदलाव होगा। सामान्य के नीचे तापमान में गिरावट देखने को मिल सकता है।वर्तमान में चक्रवाती हवा का क्षेत्र निर्मित हुआ है जबकि एक अन्य पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय है जबकि 28 जनवरी को एक अन्य पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होगा।

मौसम प्रणाली 

पाकिस्तान पर हवा के ऊपरी भाग में चक्रवात के रूप में सक्रिय होने वाले पश्चिमी विक्षोभ के कारण उड़ीसा के आसपास एक प्रति चक्रवात की स्थिति निर्मित हो गई। 30 जनवरी के बीच ठंड बढ़ने के आचार जताने के साथ ही आसमान में बादलों का आवागमन जारी रहेगा। राजधानी भोपाल में 25 जनवरी को तेज आंधी के साथ बारिश देखने को मिली है जबकि कई जगह पर पेड़ टूटकर गिर गया। बिजली की समस्या का सामना करना पड़ रहा है। भोपाल के अलावा ग्वालियर चंबल संभाग के जिले सहित शहडोल और इंदौर में भी बारिश का येलो अलर्ट जारी किया गया है।

इन क्षेत्रों में हुई बारिश

राजधानी भोपाल में रात भर बारिश देखने को मिली है। उसे 24 घंटे में 1.22 इंच बारिश रिकॉर्ड की गई इसके अलावा इंदौर ग्वालियर रीवा सतना संभाग और शहडोल संभाग में बारिश देखने को मिली है कई इलाकों में तेज बारिश के अलावा कुछ इलाकों में बूंदाबांदी से मौसम बदला है।

मौसम वैज्ञानिकों की माने तो हल्की बारिश का दौर 28 जनवरी के बाद भी जारी रहेगा। 28 जनवरी को एक तीसरा सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ, जम्मू कश्मीर, हिमालय और उत्तराखंड में बर्फबारी करवाएगा। जिसके कारण 31 दिसंबर तक मैदान इलाके में तापमान में कमी देखी जाएगी। इसके साथ ही बादलों का आवागमन जारी रहेगा।रायसेन में 0.78 इंच बारिश देखने को मिली है। नर्मदा पुरम में 1.10 इंच बारिश रिकॉर्ड की गई। भोपाल में। 0.67 इंच बारिश रिकॉर्ड की गई है जबकि नौगांव में 0.56 खजुराहो 0.45 सागर जिला 0.24 खंडवा 0.15 खरगोन 0.04 ग्वालियर 0.04, गुना में 0.03 बारिश रिकॉर्ड की गई है।