नरोत्तम मिश्रा ने किसको कहा कांग्रेस के ‘चचाजान’ ?

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी की मौत के बाद दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) के बयानों पर पलटवार करते हुए प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा (Dr Narottam Mishra) भी अब मैदान पर उतर गए हैं। उन्होंने कांग्रेस मंत्री की चुटकी लेते हुए उन्हें ‘चचाजान’ बताया है।

ये भी पढ़ें- सीएम शिवराज सिंह का बड़ा ऐलान-मप्र में बनेगा एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल

दरअसल दिग्विजय सिंह के मठों पर कब्जा, मंदिरों की जमीन खरीद-फरोख्त में धांधली भगवा हिंदू धर्म की पहचान वाले बयान पर पलटवार करते हुए नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि- “ये जो कांग्रेस के चचा-जान है, ये हिंदू धर्म, हमारे संतों का विभाजन एवं हिंदू धर्म को बदनाम करने का कोई अवसर नहीं छोड़ते हैं। वह चाहे सिंहस्थ देख लो या कोई और हिंदू आतंकवाद और भगवा आतंकवाद शब्द के जनक कांग्रेस के चचा-जान कभी दूसरे धर्म के मामले में आज तक क्यों नहीं बोले?  मैं तो तुक्ष्य हूं मुझे तो यह जवाब नहीं देंगे, लेकिन किसी बड़े को इसका जवाब जरूर दें। इतने बड़े संत के गमन के बाद भी कांग्रेस के चचा-जानों की ओछी बयानबाजी जारी है।”

ये भी पढ़ें- फिर विवादों में खुटार चौकी, नवागत चौकी प्रभारी की मौजूदगी में भी जारी है अवैध रेत परिवहन

इस दौरान गृहमंत्री ने कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए उनके सवालों पर पलटवार किया। दरअसल, मीडिया द्वारा पूछे गए प्रश्न पर कांग्रेस ने कहा था कि शिवराज ने इतनी घोषणा कर दी है जितना कि बजट नहीं है। इस पर तंज कसते हुए मध्यप्रदेश के गृहमंत्री डॉ नरोत्तम मिश्र ने कहा कि- “ऐसे ही है जैसे कांग्रेस ने 947 घोषणाएं की और एक भी पूरी नहीं की।  हमारे यहां रामायण में एक चौपाई है- ‘साधु चोर लंपट और ज्ञानी अपनी सी गत सबकी जानी।’ मुख्यमंत्री शिवराज जो कहते हैं, उसे अमल में भी लाते हैं। इसीलिए लगातार मुख्यमंत्री बन रहे हैं। बीच में कुछ कालखंड में कांग्रेस आ गई। उसमें भी वोट प्रतिशत भारतीय जनता पार्टी का ज्यादा था क्योंकि हम जनता से ताल्लुक रखते हैं। और अपने उसूल निभाते हैं। हम रिश्ते लिबासों की तरह नहीं बदलते, उसूलों की तरह निभाते हैं। कोई कांग्रेस थोड़ी ना है जो रिश्ते लिबासों की तरीके से बदलते रहते है।“

गौरतलब है कि दिग्विजय सिंह लगातार हिंदुओं को लेकर ट्वीट कर रहे है। महंत नरेंद्र गिरी की मौत मामले में आरोपी बनाए गए आनंद गिरी के आरोपी बनाए जाने के बाद दिग्विजय सिंह ने भगवा को लेकर कई टिप्पणी की थी। साथ ही शिवराज सरकार द्वारा घोषणाओं पर भी सवाल खड़े किये थे।