नरोत्तम मिश्रा ने लोकसभा चुनाव की तैयारियों के लिए ली बैठक, पदाधिकारियों को दिया यह सुझाव

MP News: मध्यप्रदेश के दमोह, पन्ना, और छतरपुर जिलों के भाजपा क्लस्टर प्रभारी डॉ नरोत्तम मिश्रा ने लोकसभा चुनाव की तैयारियों के लिए बैठक की और अपने पार्टी के पदाधिकारियों को आत्मनिर्भर और सकारात्मक मनोभाव में बने रहने का सुझाव दिया।

भावना चौबे
Published on -
narrotamm mishra

MP News: पूर्व गृह मंत्री और सागर लोकसभा क्लस्टर प्रभारी डॉ नरोत्तम मिश्रा मंगलवार को आगामी लोकसभा चुनाव की तैयारियों की समीक्षा के लिए मध्य प्रदेश के दमोह, पन्ना और छतरपुर जिला पहुंचे। इस दौरान उन्होंने दमोह भाजपा कार्यालय में जिला भाजपा पदाधिकारियों की बैठक ली। जहां उन्होंने पदाधिकारियों को कई सलाह दी।

बैठक में जिला अध्यक्ष प्रीतम सिंह लोधी, दमोह लोकसभा संयोजक जाहर सिंह, सहसंयोजक श्याम शिवहरे, लोक सभा विस्तारक बृजेश सिंह चौरसिया, विधायक पूर्व विधायक नगरीय निकाय के भाजपा पदाधिकारी भी शामिल हुए।

घातक होता है अति आत्मविश्वास – डॉ नरोत्तम मिश्रा

डॉ मिश्रा ने बैठक को संबोधित करते हुए सभी को अति आत्मविश्वास से दूर रहने की सलाह दी। साथ ही कहा कि हम जीतेंगे यह विश्वास होना चाहिए लेकिन हम ही जीतेंगे इस आति आत्मविश्वास से दूर रहना चाहिए। यह अति आत्मविश्वास कभी कभी बहुत घातक हो जाता है, क्योंकि जरा सी चूक परिणाम बदल देती है।

प्रदेश की सभी सीटें जीतेंगे

उन्होंने ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर देश को पूरा भरोसा है। उनके नेतृत्व में प्रदेश की सभी 29 सीटों की जीत का संकल्प किया। उन्होंने कहा कि इस बात में कोई शक नहीं है कि हम प्रदेश की सभी 29 सीट जीतेंगे। लेकिन इसके बावजूद भी हमें अति आत्मविश्वास से बचना चाहिए।

नरोत्तम मिश्रा ने बताया सफलता का मूल मंत्र

डॉ नरोत्तम मिश्रा ने बैठक में सफलता का मूल मंत्र दिया। इस दौरान उन्होंने कहा कि सफलता का मूल मंत्र श्रम, संकल्प, और समर्पण है। इन सब के बिना सफलता प्राप्त करना असंभव है। साथ ही कहा कि कठिन परिश्रम व समर्पण से ही हमने विधानसभा चुनाव में सफलता प्राप्त की थी। लेकिन हमें रुकना नहीं है पीएम मोदी को एक बार फिर प्रधानमंत्री बनाने के संकल्प के साथ रात दिन जुटे रहना है।

परिणाम हो सकता है प्रभावित

इस दौरान डॉ मिश्रा ने कहा कि जीत से पहले न जीत होती है, न हार के पहले कभी हार होती है। इतिहास गवाह है कि कई युद्ध केवल इस वजह से हार गए क्योंकि लड़ने वालों ने जीत तय मान ली थी। डॉ मिश्रा ने जीत के लिए सही मनोभाव बनाए रखने के लिए जरूरी सलाह दी और यह दिखाया कि भाजपा क्यों उत्कृष्टता की ओर बढ़ रही है।


About Author
भावना चौबे

भावना चौबे

इस रंगीन दुनिया में खबरों का अपना अलग ही रंग होता है। यह रंग इतना चमकदार होता है कि सभी की आंखें खोल देता है। यह कहना बिल्कुल गलत नहीं होगा कि कलम में बहुत ताकत होती है। इसी ताकत को बरकरार रखने के लिए मैं हर रोज पत्रकारिता के नए-नए पहलुओं को समझती और सीखती हूं। मैंने श्री वैष्णव इंस्टिट्यूट ऑफ़ जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन इंदौर से बीए स्नातक किया है। अपनी रुचि को आगे बढ़ाते हुए, मैं अब DAVV यूनिवर्सिटी में इसी विषय में स्नातकोत्तर कर रही हूं। पत्रकारिता का यह सफर अभी शुरू हुआ है, लेकिन मैं इसमें आगे बढ़ने के लिए उत्सुक हूं। मुझे कंटेंट राइटिंग, कॉपी राइटिंग और वॉइस ओवर का अच्छा ज्ञान है। मुझे मनोरंजन, जीवनशैली और धर्म जैसे विषयों पर लिखना अच्छा लगता है। मेरा मानना है कि पत्रकारिता समाज का दर्पण है। यह समाज को सच दिखाने और लोगों को जागरूक करने का एक महत्वपूर्ण माध्यम है। मैं अपनी लेखनी के माध्यम से समाज में सकारात्मक बदलाव लाने का प्रयास करूंगी।

Other Latest News