चोर की चिट्ठी, भगवान से मांगी माफ़ी, ‘SORRY..गलती हो गई’

after-stealing-statue-Thief's-leave-letter-apologized-to-later-to-god

नरसिंहपुर| चोरी करने के बाद हमेशा पुलिस चोरी का पर्दाफ़ाश और चोर की तलाश करती है| ऐसा बहुत कम ही देखने को मिलता है जब चोर को चोरी का अहसास हो और चोरी किया गया सामान वापस कर माफ़ी मांगे| लेकिन ऐसा हुआ है मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर जिले में| जहां जिले के खमरिया गाँव में एक चोर ने मूर्ती चोरी करने के बाद चुपचाप मूर्ती को वापस रखकर भगवान से लिखित में माफी मांगी है और चिट्ठी छोड़ी है| एक चोर की यह ईमानदारी चर्चा का विषय बनी हुई है|

दरअसल, जैन मंदिर से चोरी गई भगवान् महावीर की 9 इंच ऊंची अष्ट धातु की मूर्ती अगले दिन ही सुबह 6 बजे मंदिर के गेट के पास मिली| इसके साथ में एक चिट्ठी भी मिली| जिसमे लिखा था, मुझे माफ़ कर दीजिये, मैं मूर्ख बन गया हूँ| एक तांत्रिक के कहने पर मेने यह मूर्ती चोरी कर ली थी| चोर ने खत में भगवान से माफी मांगते हुए लिखा कि किसी तांत्रिक ने उसे यह प्रतिमा चुराने के लिए कहा था और कहा था कि इस प्रतिमा से खजाना निकलेगा| तांत्रिक इस प्रतिमा को लेकर भागने की फिराक में था, लेकिन उसने उसे भागने नहीं दिया और मंदिर में प्रतिमा वापस पहुंचा दी| चिट्ठी में लिखा है वह तांत्रिक 2100 रुपए और मूर्ती ले जाना चाहता था| खजाने के लालच में रातभर जागता रहा, लेकिन कुछ नहीं हुआ| जैसे ही सोने लगा तो तांत्रिक मूर्ती लेकर भागने लगा, जिसे पकड़ने दौड़ा तो वह मूर्ती छोड़कर भाग गया| गलती हो गई हो तो माफ़ कर देना|