MP: लोकायुक्त के हत्थे चढ़ा सहकारिता निरीक्षक, मजदूरी में कमीशन लेते गिरफ्तार

bribe

नरसिंहपुर।

कोरोना संकटकाल (Corona Crisis) में भ्रष्टाचार का खेल तेजी से जारी है।आए दिन रिश्वत के मामले सामने आ रहे है।निवाड़ी के बाद आज बुधवार को नरसिंहपुर जिले के गाडरवारा (Gadarwara of Narsinghpur district) में लोकायुक्त टीम (Lokayukta team) ने बड़ी कार्रवाई की है। टीम ने सहकारिता निरीक्षक (Co-operative inspector) को 10 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे गिरफ्तार किया है।

यह कार्रवाई जबलपुर लोकायुक्त (Jabalpur Lokayukta) द्वारा की गई है। आरोप है कि निरीक्षक ने गेहूं खरीदी में हम्मालों का भुगतान करने के एवज में रिश्वत की मांग की थी। लोकायुक्त डीएसपी जेपी वर्मा ने बताया कि समिति प्रबंधक गाडरवारा मुलाम पटेल पिता सरदार सिंह पटेल उम्र 54 साल ने मामले में शिकायत की थी कि शैलेंद्र सिंह भाटी पिता चंद्रभान सिंह भाटी, सहकारिता निरीक्षक कार्यालय, उप-आयुक्त सहकारी संस्थाएं नरसिंहपुर द्वारा गेंहू खरीदी के दौरान हम्माली मजदूरी की राशि जो समिति प्रबंधक के द्वारा सेल्समैन को दी जाती है में कमीशन के रूप में 10 हजार की मांग की जा रही है।इसके बाद आज बुधवार को टीम ने योजना बनाकर सहकारिता निरीक्षक को रंगेहाथों गिरफ्तार किया।फिलहाल भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया जा रहा है औऱ कार्यवाही जारी है।

मंगलवार को जनपथ सीईओ 2 लाख की रिश्वत लेते धराया था

इससे पहले मंगलवार को एमपी (MadhyPradesh) के निवाड़ी जिले (Niwadi District) में लोकायुक्त सागर पुलिस (Lokayukta Sagar Police) ने जनपद पंचायत के सीईओ (CEO of Janpad Panchayat) हर्ष खरे को 2 लाख रुपए की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया था। जनपद सीईओ ने यह रिश्वत मनरेगा (MANREGA) काम के भुगतान और पंचायत की जांच निपटाने के एवज में मांगी थी, जिसकी शिकायत लोकायुक्त में की गई थी।