नरसिंहपुर में पुलिस ने गैंगरेप की नहीं लिखी रिपोर्ट, महिला ने कर ली आत्महत्या

पति का आरोप तीन दिन तक चक्कर लगाते रहे, नहीं लिखी एफआईआर, आनन् फानन में मामले में दो आरोपी गिरफ्तार

rape

नरसिंहपुर, डेस्क रिपोर्ट| उत्तरप्रदेश के हाथरस गैंगरेप केस (Hathras case) के बाद देश भर में महिलाओं के खिलाफ हो रहे अपराधों को लेकर राजनीति में आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है| इस बीच मध्य प्रदेश (Madhyapradesh) के नरसिंहपुर जिले (Narsinghpur) में एक बड़ा मामला सामने आया है| चीचली थानांतर्गत एक गांव में अनुसूचित जाति की महिला ने शुक्रवार सुबह घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मृतका के पति का आरोप है कि उसकी पत्नी के साथ सामूहिक दुष्कर्म हुआ था। पुलिस ने उनकी रिपोर्ट तक नहीं लिखी|

मृतका के पति का आरोप है कि रिपोर्ट लिखाने वे तीन दिन से चौकी-थाने के चक्कर लगा रहे थे| लेकिन आरोपियों के गिरफ्तार करने के बजाय पीडि़ता के परिजनों को ही पुलिसवालों ने सलाखों के पीछे कर दिया| महिला ने शुक्रवार को आत्महत्या कर ली| मामले की जानकारी जैसे ही सार्वजानिक हुई, आनन-फानन में गाडरवारा के एसडीओपी सीताराम यादव घटनास्थल पर पहुंचे| यहां उन्होंने शव का पंचनामा बनवाकर पोस्टमार्टम के लिए गाडरवारा सिविल अस्पताल भेजा| पीडि़ता के पति समेत परिवार के लोगों के बयान दर्ज किये|

मामले में चीचली थाने के एक एएसआइ को अधिकारियों ने निलंबित कर दिया जबकि दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोप है कि एफआईआर लिखने के बजाय पीड़िता के साथ गालीगलौज की गई। आरोप है कि महिला के परिवार वालों को छोड़ने के एवज में पुलिस ने उनसे रुपए लिए। इससे व्यथित महिला ने आत्महत्या कर ली।