प्रशासन ने तय की गरबा उत्सव की समय सीमा, संजय शुक्ला का कहना गरबे को राजनीति से रखें अलग

Navratri Garba Mahotsav, Top 5 Garba Places In Indore

Navratri Garba Mahotsav : मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान होने के बाद लागू की गई आचार संहिता की वजह से गरबा उत्सव के आयोजन की समय सीमा प्रशासन द्वारा तय कर दी गई। तय समय सीमा रात्रि 10 बजे तक की है। इस वजह से आयोजक और गरबा करने वाले युवक युवतियां काफी ज्यादा निराश है। क्योंकि हर साल नवरात्रि के दौरान गरबे की धूम सबसे ज्यादा रहती है। लेकिन इस साल आचार संहिता की वजह से समय सीमा तय कर दी गई है जिसके चलते लोगों का उत्साह कम हो सकता है।

दरअसल, नवरात्रि के 9 दिन का पर्व मां दुर्गा की साधना और आराधना का पर्व है। इस दौरान भक्तों के द्वारा गरबे किए जाते हैं। प्रशासन को गरबा उत्सव के आयोजन को परंपरागत तरीके से इस साल भी रखना चाहिए। जैसे हर साल गरबे का आयोजन धूमधाम से मनाया जाता है, रात 12:00 तक गरबा किया जाता है ठीक उसी तरह इस साल भी गरबे का आयोजन करने की अनुमति प्रशासन को देनी चाहिए।

Navratri Garba Mahotsav को लेकर विधायक शुल्का ने की ये मांग

इसको लेकर कांग्रेस विधायक संजय शुक्ल का कहना है कि नवरात्रि उत्सव के दौरान होने वाले गरबे के आयोजन को चुनाव की राजनीति से अलग रखा जाना चाहिए। प्रशासन को गरबे को परंपरागत रूप से रात 12 बजे तक करवाने की अनुमति देनी चाहिए। आगे संजय शुक्ला ने कहा कि चुनाव आयोग के द्वारा लागू की गई चुनाव आचार संहिता में ध्वनि विस्तारक यंत्र के उपयोग पर रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक के लिए प्रतिबंध होता है।

चुनाव आयोग के द्वारा यह प्रतिबंध खास तौर पर राजनीतिक कार्यक्रमों के आयोजन को ध्यान में रखते हुए लगाने का प्रावधान किया गया है। इस स्थिति को जिला प्रशासन को भी समझना चाहिए। इस बारे में आवश्यकता होने पर राज्य निर्वाचन अधिकारी और केंद्रीय निर्वाचन आयोग से भी सलाह मशविरा किया जाना चाहिए। शुक्ला ने कहा कि मालवा में गरबा उत्सव का आयोजन रात को 8 बजे के बाद से शुरू होता है ऐसे में 10 बजे उसे बंद कर दिया जाएगा तो फिर यह आयोजन पूरी तरह से अव्यवस्थित हो जाएगा ।

इंदौर से मंगल राजपूत की रिपोर्ट


About Author
Avatar

Ayushi Jain

मुझे यह कहने की ज़रूरत नहीं है कि अपने आसपास की चीज़ों, घटनाओं और लोगों के बारे में ताज़ा जानकारी रखना मनुष्य का सहज स्वभाव है। उसमें जिज्ञासा का भाव बहुत प्रबल होता है। यही जिज्ञासा समाचार और व्यापक अर्थ में पत्रकारिता का मूल तत्त्व है। मुझे गर्व है मैं एक पत्रकार हूं। मैं पत्रकारिता में 4 वर्षों से सक्रिय हूं। मुझे डिजिटल मीडिया से लेकर प्रिंट मीडिया तक का अनुभव है। मैं कॉपी राइटिंग, वेब कंटेंट राइटिंग, कंटेंट क्यूरेशन, और कॉपी टाइपिंग में कुशल हूं। मैं वास्तविक समय की खबरों को कवर करने और उन्हें प्रस्तुत करने में उत्कृष्ट। मैं दैनिक अपडेट, मनोरंजन और जीवनशैली से संबंधित विभिन्न विषयों पर लिखना जानती हूं। मैने माखनलाल चतुर्वेदी यूनिवर्सिटी से बीएससी इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में ग्रेजुएशन किया है। वहीं पोस्ट ग्रेजुएशन एमए विज्ञापन और जनसंपर्क में किया है।

Other Latest News