एडीएम का रीडर 5 हजार की रिश्वत लेते होटल में रंगेहाथ धराया

ADM-reader-kamlesh-gupta-arrested-took-bribe-of-5-thousand-in-neemuch

नीमच। मध्य प्रदेश के नीमच में उज्जैन लोकायुक्त पुलिस ने एडीएम के रीडर को रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार किया है| अतिक्रमण की शिकायत के मामले में एडीएम के रीडर ने रिश्वत की मांग की थी, जिस पर लोकायुक्त टीम ने योजनाबद्ध तरीके से आरोपी रीडर को एक निजी होटल में 5000 की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा है| 

जानकारी के मुताबिक उज्जैन लोकायुक्त पुलिस ने गुरूवार को कार्रवाई करते हुए एडीएम विनय कुमार धोका के रीडर कमलेश गुप्ता को जिला कलेक्टर कार्यालय के सामने स्थित शर्मा रेस्टोरेंट से रिश्वत लेते पकड़ा है। अतिक्रमण की शिकायत मामले में रीडर कमलेश गुप्ता ने 5000 की रिश्वत की मांग की थी, जिस पर लोकायुक्त टीम ने योजना बनाई और आरोपी रीडर को कलेक्टर के सामने एक निजी होटल में 5000 की रिश्वत लेते रंगे हाथों धर दबोचा।

मामला जीरन तहसील के गांव चीता खेड़ा का है जहां शासकीय भूमि पर किसी व्यक्ति के द्वारा अतिक्रमण किया गया था। लोकायुक्त निरीक्षक बसंत श्रीवास्तव ने बताया कि 21 जुलाई 2019 को चीताखेड़ा निवासी राकेश पिता जगदीश परमार ने शिकायत दी थी कि गांव के शासकीय अध्यापक अजय पिता बालमुकुंद शर्मा ने शासकीय भूमि पर अतिक्रमण कर रखा था और उसे अन्य को बेच दी। जिसकी शिकायत तहसील कोर्ट में दी थी। वहां से उसके पक्ष में मामला हुआ था। वहीं एसड़ीएम कोर्ट में भी उसके पक्ष में मामला हुआ था। जिसके बाद जिला कलेक्टर कोर्ट में आवेदन किया था। जिसमें अपर कलेक्टर की कोर्ट में प्रकरण में आवेदन आया था। जिसमें पार्टी भी ग्राम पंचायत को बनाया गया था। जबकि शिकायतकर्ता स्वयं राकेश था। इस मामले को राकेश के पक्ष में करने के लिए एडीएम के रीडर कमलेश गुप्ता ने पांच हजार रुपए रिश्वत के मांगे थे।

होटल पर पकड़ाया रीडर 

शिकायतकर्ता ने मामले की शिकायत लोकायुक्त को की थी| जिसके बाद लोकायुक्त की टीम ने योजना बनाई और वह जिला कलेक्टर कार्यालय के आसपास छिपकर बैठ गए। वहीं प्रार्थी राकेश को अंदर भेजा। रीडर उसे चाय की होटल पर लेकर आया और वहां पर उससे रिश्वत के पांच हजार रुपए लिए। इसी दौरान टीम ने चाय की होटल पर ही रीडर को रिश्वत के केमिकलयुक्त पांच-पांच सौ के दस नोट के साथ पकड़ लिया। जिसेक बाद कार्रवाई शुरू कर दी।