बड़ा खुलासा : गरीबी मिटाने और महंगे शौक पूरे करने युवा बन रहे नशे के सौदागर

नीमच, कमलेश सारडा। नीमच मंदसौर रतलाम जिला पूरे देश में अफीम की खेती के नाम से प्रसिद्ध है। यहां पर बड़े पैमाने पर अफीम की खेती की जाती है इसी के साथ बड़े पैमाने पर तस्करी भी होती है। बात की जाए मादक पदार्थों की कार्रवाइयों में तो सबसे ज्यादा युवा पीढ़ी इस नशे के कारोबार में संलिप्त दिखाई देती है।

ये भी पढ़ें – Transfer : IPS अधिकारियों के थोकबंद तबादले, यहाँ देखें लिस्ट

दरअसल नीमच की नारकोटिक्स विंग के उप निरीक्षक रउफ खान कि 2019 में पद स्थापना के बाद से लगाकर आज तक डोडाचूरा व अफीम के 60 एनडीपीएस के प्रकरण पंजीबद्ध हो गए हैं इसमें 100 आरोपियों को नारकोटिक्स विंग के द्वारा गिरफ्तार कर उन्हें जेल भेजा गया है सबसे खास बात  ये है कि पकड़े गए 100 आरोपियों में करीब 60 से 65 युवा है जो अपनी गरीबी दूर करने के लिए वाह ऐशो आराम की जिंदगी जीने के लिए तस्करी कर अवैध कामों से शॉर्टकट तरीके से रास्ता अपनाकर अपने शौक मौज पूरे करने के लिए यह रास्ता चुनते हैं। इस बात का खुलासा नारकोटिक्स विंग नीमच के उप निरीक्षक रउफ खान ने किया है।