MP में अवैध कॉलोनियां को वैध करने की सीएम ने की घोषणा, पढ़े पूरी खबर

Amit Sengar
Published on -

MP News : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को भोपाल में आयोजित एक कार्यक्रम से प्रदेश के लगभग 413 शहरों की 6 हजार से अधिक अवैध कॉलोनियों को वैध करने की घोषणा की है। साथ ही नीमच जिले की 54 कॉलोनियां को वैध क़रार दिया है। इसके साथ ही सीएम ने कॉलोनियां को वैध करते समय लगने वाले 20 प्रतिशत विकास शुल्क की भी छुट दी है। अब नीमच में नगर पालिका द्वारा अवैध कॉलोनियां को वैध करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गयी है।

नगर पालिका द्वारा पहले इन कॉलोनियां के लेआउट तैयार किये जा रहे है, फिर स्टीमेट बनाकर विज्ञप्ति जारी कर दावे आपत्तियां लिए जाएंगे। उसके बाद परिषद् में विकास कार्यों के लिए प्रस्ताव पास किये जाएंगे। इसी तरह बची 48 अवैध कॉलोनियां को भी वैध करने की प्रक्रियां शुरू की जाएंगी। अवैध कॉलोनियों में वैध होने के बाद नल-बिजली कनेक्शन, सड़क खरंजा निर्माण, मकानों की रजिस्ट्री पर लोन सुविधा मिलने के साथ ही कॉलोनियों के विकास का रोडमेप तैयार होने की सुविधा मिल सकेगी। भोपाल में आयोजित मुख्यमंत्री के कार्यक्रम का नीमच में लाईव प्रसारण किया गया। नीमच के वार्ड क्र. 1 में फिल्टर को के पास स्थित सांवरिया मांगलिक भवन में विधायक दिलीपसिंह परिहार, नपाध्यक्ष स्वाति चौपडा, सीएमओ गरिमा पाटीदार और पार्षद राकेश किलोरियां व अन्य अतिथियों और रहवासियों की उपस्थिति में लाइव देखा गया।

इस अवसर पर विधायक दिलीप सिंह परिहार ने कहा कि मुख्यमंत्री ने अवैध कॉलोनियों को वैध कर नीमच के लोगो को ऐतिहासिक सौगात दी है। अवैध कॉलोनियां के लोग काफी परेशान थे। मेरे पास विकास कार्यों की शिकायत लेकर आते थे। अब सभी कॉलोनियों वैध हो गयी है। नपाध्यक्ष स्वाति चौपडा ने कहा कि हमने पहले ही सर्वे कराया था नीमच में 54 कॉलोनियों अवैध थी। अत्यधिक हर्ष का विषय है मुख्यमंत्री ने सभी कॉलोनियां को वैध कर दिया है। अब सभी मूलभूत सुविधाओं के कार्य प्रारम्भ होंगे।
नीमच से कमलेश सारडा की रिपोर्ट


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”

Other Latest News