बाबू सिंधी कांड में आरक्षक पंकज को एनसीबी ने किया गिरफ्तार

पीके बाबू सिंधी के तमाम काले कारनामो में शामिल बताया जाता था।

नीमच, कमलेश सारडा। बहुचर्चित बाबू सिंधी कांड (Babu Sindhi case) में आज आरक्षक पंकज कुमावत उर्फ पीके (constable pankaj) को केंद्रीय नारकोटिक्स ब्यूरों ने गिरफ्तार कर लिया, जैसे ही पीके की गिरफ्तारी की खबर अफीम पुल में लगी तो हाहाकार मच गया, क्योंकि पीके मालवा-मेवाड़ के अफीम पुल का एक अहम खिलाड़ी माना जाता है।

यह भी पढ़े…MPPSC 2021: उम्मीदवारों के लिए बड़ी खबर, रिक्त पदों की संख्या बढ़ी, शुद्धि पत्र जारी, अब 290 पदों पर होगी भर्ती

गौरतलब है कि कुख्यात तस्कर बाबू सिंधी को 25 टन से भी अधिक मादक पर्दार्थो के साथ केन्द्रीय नारकोटिक्स ब्यूरो ने गिरफ्तार किया था जिसकी गिरफ्तारी के बाद से यह कयास लगाये जा रहे थें, की आरक्षक पंकज कुमावत उर्फ पीके की गिरफ्तारी भी हो सकती है, क्योंकि पीके बाबू सिंधी के तमाम काले कारनामो में शामिल बताया जाता था।

बाबू सिंधी कांड में आरक्षक पंकज को एनसीबी ने किया गिरफ्तार

यह भी पढ़े…मुहाँसे से छुटकारा पाने के लिए फॉलो करें ये Diet, मिलेगी साफ और चमकदार त्वचा

इस मामले में सीबीएन ने पीके को कई बार नोटिस भी भेजा था और पूछताछ करना चाही थी जानकारो की माने तो पीके कुख्यात तस्कर बाबू के साथ जमीनो के धंधे में भी पार्टनर था वही इस मामले में सीबीएन द्वारा आज पीके को अरेस्ट कर लिया गया पीके की गिरफ्तारी के बाद ये माना जा रहा है कि जल्दी ही कुछ और लोगो की गिरफ्तारी कुख्यात तस्कर मामले में हो सकती है।

यह है मामला
केंद्रीय नारकोटिक्स ब्यूरों टीम ने अगस्त माह में दोपहर दो बजे औद्योगिक क्षेत्र स्थित हितांशी ट्रेडिंग कंपनी पर दबिश देकर वहां जांच के दौरान गेंहू की बोरी में डोडाचूरा मिक्स कर बाहर भेजना पाया गया है। आईआरएस अधिकारी संजय कुमार के नेतृत्व में बाबू सिंधी उर्फ जय सबनानी के गोदाम पर जांच शुरू हुई जो कि गुरुवार देर रात तक चलती रही। करीब 400 गेंहू की बोरी गिनी जा चुकी थी, जिसमें डोडाचूरा पीसकर मिलाया गया हुआ था। इस कार्यवाही में एमपी ओर राजस्थान के एक दर्जन अधिकारी शामिल थे।

वहीं बाबू सिंधी से जुड़े कई पोस्तादाना व्यापारी में हडकंप मच हुआ है, कब किससे पूछताछ हो जाए। गोदाम में कई दस्तावेज टीम को हाथ लगे हुए है। जिनमें अफीम, डोडाचूरा, धोलापाली ओर कालेदाने की तस्करी से जुडे हुए है। पोस्ते की छनाई के बाद निकले धोलापाली और कालेदाने को कुख्यात तस्कर बाबू सिंधी खरीददता था,बडे पैमाने पर इसकी तस्करी बाबू सिंधी कर रहा था।

स्थानीय स्तर पर कुछेक पुलिसकर्मियों से सांठगांठ होने के कारण उस पर स्थानीय पुलिस की कार्यवाही अब तक नहीं हो पा रही थी, नीमच में वह बडे पैमाने पर तस्करी का गिरोह संचालित कर रहा था। तस्करी से अर्जित करोडों रूपए से बाबू सिंधी ने नीमच व आसपास जमीनें खरीदी है। इन दिनों वह प्रापर्टी में ब्लैकमनी खपा रहा था। पहली बार नीमच जिले के कुख्यात तस्कर बाबू उर्फ जयकुमार सिंधी पर केंद्रीय नारकोटिक्स ब्यूरो की टीम ने शिकंजा कसा है। बाबू सिंधी तस्कर गिरोह का पर्दाफाश हो गया है।