Eye donate: परिवार जनों की सहमती से नेत्रदान की सार्थक पहल, भारत विकास परिषद बना मददगार

शामगढ़ के व्यापारी ने पत्नी की मृत्यु के बाद आंखें दान देकर मानवता के नई मिसाल पेश की।

शामगढ़, राकेश धनोतिया। (Eye donate) मध्यप्रदेश के शामगढ़ के अनाज व्यापारी के परिवार ने मानवता की एक मिसाल पेश करते हुए अपनी पत्नी की आंखें मरणोपरांत दान ( I donate) की है। अनाज व्यापारी  कैलाशचंदजी मुजावदिया (मेलखेड़ा वाले) की धर्मपत्नी एवं राजेश नागेश मुजावदिया की माताजी श्रीमती प्रेमलता बाई के स्वर्गवास हो जाने के पश्चात उनके परिवारजनों ने सार्थक पहल करते हुए सर्व सहमती से नेत्रदान का फैसला किया। इस कार्य हेतु परिजनों ने भारत विकास परिषद की मदद ली। भारत विकास परिषद का इस सत्र का यह तीसरा नेत्रदान है।

यहां भी देखें-  Mpews : मध्य प्रदेश को मिलेंगे 29 IAS और IPS, सूची में इन अफसरों के नाम

नेत्र उत्सर्जन परिषद के चिकित्सा प्रभारी डॉ अमित धनोतिया एवं दृष्टि दोष विशेषज्ञ ओमेश गहलोत ने सफलतापूर्वक किया । नेत्र उसर्जन केेे बाद उन्हें 1:00 बजे विकास परिषद ने प्राइवेट वाहन से गोमाबाई नेत्रालय नीमच पहुंचाया। दान किए नेत्रों केे द्वारा कल दो लोगों को रोशनी मिलेगी।

यहां भी देखें- MP School: छात्रों के लिए काम की खबर, स्कूलों का समय बदला, प्राचार्यों को भी ये निर्देश जारी

परिषद परिवार के पूर्व अध्यक्ष एवं सचिव पोरवाल समाज मुकेश दानगढ़ पूर्व सचिव विजय चौधरी पूर्व कोषाध्यक्ष रमेश मेहता नितिन चौधरी सोनू श्रीनाथ दीपक पटेल मनोज मेहता आशीष संघवी सहित मुजावदिया परिवार मेलखेड़ा वाले के सदस्यगण  का भारत विकास परिषद ने आभार माना एवं उनके इस प्रयास की सराहना करते हुए दिवंगत आत्मा की शांति हेतु प्रार्थना की।

यहां भी देखें- MP News: पंचायत सचिव समेत 2 सस्पेंड, 6 बर्खास्त, 6 पर जुर्माना, 1 लाइसेंस निलंबित