नीमच में यूरिया खाद की किल्लत को लेकर किसानों ने कलेक्टर के नाम सौंपा ज्ञापन, गोदाम खोलने की मांग

नीमच में किसानों ने कलेक्टर के नाम ज्ञापन सौंपा है। जिसमें उन्होंने कालाबाजारी रोकने और डबल लॉक केंद्र व गोदाम खोलने की मांग है। पढ़ें विस्तार से...

नीमच, कमलेश सारडा | नीमच जिले में सिंगोली तहसील क्षेत्र में यूरिया खाद की कमी और कालाबाजारी से परेशान किसानों ने गुरुवार को तहसील कार्यालय पहुंचकर कलेक्टर के नाम ज्ञापन दिया है। ज्ञापन में कालाबाजारी रोकने और सिंगोली सहित रतनगढ़ में यूरिया खाद की सहज उपलब्धता के लिए डबल लॉक केंद्र और गोदाम खोलने की मांग की गई है। सिंगोली ब्लॉक के युवा कांग्रेस अध्यक्ष बालकिशन धाकड़ के नेतृत्व में तहसील कार्यालय पहुंचे किसानों ने कलेक्टर के नाम ज्ञापन देते हुए बताया कि इन दिनों क्षेत्र में फसल बुवाई का कार्य चल रहा है और किसानों को सबसे ज्यादा यूरिया खाद की आवश्यकता महसूस हो रही है लेकिन सोसाइटी पर किसानों को यूरिया खाद उपलब्ध नहीं हो रहा है।

यह भी पढ़ें – तबादले के बाद भी सरकारी आवास खाली नहीं कर रहे वनकर्मी, डीएफओ जारी करेंगे नोटिस

किसानों ने ज्ञापन देते हुए बताया कि, सोसाइटी पर उन्हीं किसानों को खाद दी जा रही है जो सोसाइटी के खातेदार है। अन्य बैंक से संबंधित केसीसी धारक और नगद भुगतान करने वाले किसानों को यहां खाद नहीं मिल रहा है। वहीं, इस मामले में कांग्रेस नेता बालकिशन धाकड़ ने जानकारी देते हुए बताया कि, सिंगोली क्षेत्र में लाइसेंस धारी खाद विक्रेताओं द्वारा निर्धारित मूल्य से अधिक दाम वसूले जा रहे हैं जबकि व्यापारियों ने खाद के साथ अन्य कीटनाशक खरीदना भी अनिवार्य किया है। लाइसेंस धारक व्यापारी जरूरत के समय किसानों से अधिक दाम वसूल कर खाद की खुलेआम कालाबाजारी कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें – 11 करोड़ का जापानी दमकल वाहन 56 मीटर पर भी बुझा सकेगा आग, रेस्क्यू में भी होगी आसानी 

साथ ही नेता बालकिशन धाकड़ ने बताया कि, किसानों को यूरिया खाद की सहज उपलब्धता के लिए सरकार ने जावद कृषि मंडी परिसर में डबल लॉक केंद्र खोला है यह सरकार का सराहनीय कदम है लेकिन सिंगोली क्षेत्र के किसानों के लिए 100 किलोमीटर दूर से खाद खरीद कर लाना महंगा साबित होता है। इसीलिए सिंगोली तहसील क्षेत्र के किसानों को यूरिया खाद की सहज उपलब्धता और खाद की कालाबाजारी रोकने के लिए सिंगोली सहित रतनगढ़ में डबल लॉक केंद्र और गोदाम खोला जावे। इस दौरान बालकिशन धाकड़ के साथ धनगांव, बड़ी, चक सोड़िजर, लाडपुरा और बड़ावड़ा आदि क्षेत्र के किसान मौजूद थे।

यह भी पढ़ें – Indore : फर्जी आधार कार्ड से ले रहे OYO में एंट्री, बजरंगियों ने मुस्लिम युवक को रंगे हाथों पकड़ा