नीमच में दबंगों के आगे बेबस प्रशासन, मंडी बैरियर के नाम पर अब भी जारी है अवैध वसूली!

Neemuch News : मध्यप्रदेश के नीमच में राजस्थान सीमा पर मंडी बैरियर के नाम से अब भी अवैध वसूली जारी रही है। जिससे किसानों की आने जाने वाली छोटी गाड़ियां, पिकअप आदि के ड्राइवर परेशान हो रहे हैं। उन्हें मजबूरी में प्रति गाड़ी ₹200 देने पड़ रहे हैं। बीते दिनों कलेक्टर ने कहा था कि अगर किसी गाड़ी वाले को परेशानी आती है तो नजदीकी थाने पर अपनी शिकायत दर्ज करवा सकता है लेकिन अब तक दो- दो शिकायतें होने के बावजूद भी पुलिस प्रशासन कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है, जिससे प्रशासन की “बेबसी” समझ आ रही है।

नीमच में दबंगों के आगे बेबस प्रशासन, मंडी बैरियर के नाम पर अब भी जारी है अवैध वसूली!

प्रशासन द्वारा नहीं की गई कार्रवाई

हाल ही में, हरचंद गुर्जर और सुरेश सिंह रावत निवासी भूडोल से पैसे मांगे। जिन्होंने पैसे देने से इंकार किया तो उन दोनों को परेशान किया गया। जिसकी शिकायत नयागांव पुलिस चौकी में की गई। इसके बावजूद, पुलिस प्रशासन ने अब तक कोई कार्रवाई नहीं की। बता दें कि पिछले 4 माह पूर्व जब प्रमुखता से खबर प्रकाशित की गई तो कलेक्टर ने संज्ञान लेते हुए तत्काल इसे बंद करवा दिया गया लेकिन 4 महीने बाद एक बार फिर यह बाहुबली अपना सिर उठा रहे हैं तथा गरीब ड्राइवरों को परेशान करते हुए ₹200 प्रति गाड़ी ले रहे हैं।

रात के अंधेरे में होती है जबरदस्त वसूली

मंडी बैरियर के नाम से अवैध वसूली करने वाले स्थानीय लोग रात के अंधेरे में सभी कृषि पिकअप और अन्य गाड़ियों वालों को रोककर वसूली करते हैं। उन्हें कोई कुछ कहने वाला भी नहीं है। इसकी वसूली के लिए स्थानीय गुंडों की निजी सेना काम करती है, वह पैसा इकट्ठा कर अपने मालिकों तक पहुंचाती है।

ऐसे चलता है वसूली का खेल

सूत्र बताते हैं कि अवैध धंधे में वसूली के खेल में टोल टैक्स जैसे ही गाड़ी निकलती है वह मंडी के प्राइवेट आदमियों को गाड़ी की सूचना फोन पर दे देते हैं। जिस गाड़ी में कृषि संबंधित जींस या माल है, उसे वहां बैठा व्यक्ति गाड़ी नंबर से पकड़ कर उसके ड्राइवर से पैसे मांगता है। पैसे नहीं देने पर उन्हें कहा जाता है कि तुम्हें पास में लगे हुए काटे से गाड़ी निकालना पड़ेगा क्योंकि गाड़ी वाला परेशान रहता है। साथ ही, चाहता है कि बिना किसी झंझट के अपनी गाड़ी निकल जाए, इसके लिए मजबूरी में वह ₹200 दे देता है।

चौकी प्रभारी ने कही ये बातें

वहीं, एमपी ब्रेकिंग द्वारा इस मुद्दे को 11 फरवरी को प्रमुखता से प्रकाशित किया गया जिसमें कलेक्टर ने कहा था कि मंडी के नाम से कोई बेरियर नहीं है तथा कोई भी व्यक्ति किसी ट्रक ड्राइवर अवैध वसूली करता है तो तत्काल समीप के पुलिस थाने में अपनी रिपोर्ट दर्ज करवाएं, जिससे तत्काल कार्रवाई की जाएगी। जबकि नयागांव चौकी प्रभारी सुमित मिश्रा से फोन पर हुई बातचीत ने उन्होंने ये कहा।

नीमच से कमलेश सारडा की रिपोर्ट


About Author
Sanjucta Pandit

Sanjucta Pandit

मैं संयुक्ता पंडित वर्ष 2022 से MP Breaking में बतौर सीनियर कंटेंट राइटर काम कर रही हूँ। डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन और बीए की पढ़ाई करने के बाद से ही मुझे पत्रकार बनना था। जिसके लिए मैं लगातार मध्य प्रदेश की ऑनलाइन वेब साइट्स लाइव इंडिया, VIP News Channel, Khabar Bharat में काम किया है। पत्रकारिता लोकतंत्र का अघोषित चौथा स्तंभ माना जाता है। जिसका मुख्य काम है लोगों की बात को सरकार तक पहुंचाना। इसलिए मैं पिछले 5 सालों से इस क्षेत्र में कार्य कर रही हुं।

Other Latest News