Neemuch: मनासा न्यायालय ने फर्जी वसीयत बनाकर जमीन बेचने वाले आरोपियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज करने के दिए आदेश

मनासा न्यायालय ने फर्जी वसीयत बनाकर जमीन बेचने वाले के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 420, 467, 468, 471, एवं 120 के तहत, मनासा थाने पर प्रकरण दर्ज किया गया। पढ़ें विस्तार से...

Neemuch News : मध्यप्रदेश के नीमच के न्यायालय मनासा ने फर्जी वसीयत बनाकर जमीन बेचने वाले आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। न्यायालय ने फर्जी दस्तावेज बनाकर कॉलोनी का निर्माण किए जाने पर 6 आरोपियों के खिलाफ धोखाधड़ी सहित अन्य धाराओं में प्रकरण दर्ज करने के आदेश दिए है।

जानकारी के अनुसार

मिली जानकारी के अनुसार, फरियादी वरिष्ठ पत्रकार स्व. रमेश ओझा के पुत्र पियूष ओझा ने मनासा कोर्ट में एक याचिका दायर की थी कि उनकी पैतृक जमीन को कुछ लोगो द्वारा फर्जी वसीयत बनाकर बेच दी है। उस जमीन पर कॉलोनी का निर्माण किया जा रहा है। फरियादी रमेश ओझा के अनुसार, उनकी पैतृक जमीन को अनूप ओझा द्वारा फर्जी वसीयत बनाकर अपने नाम करवा लिया और बाद में इसको बेच दिया।

थाने पर प्रकरण किया दर्ज

जिसे देखते हुए  प्रकरण को देखते हुए न्यायालय ने माना की वसीयत झूठी है। मुख्य आरोपी अनूप ओझा, विवेक सोनी, हरीश एनिया सहित अन्य तीन आरोपियों के विरुद्ध मनासा न्यायालय आदेश पर भारतीय दंड संहिता की धारा 420, 467, 468, 471, एवं 120 के तहत, मनासा थाने पर प्रकरण दर्ज किया गया।

नीमच से कमलेश सारड़ा की रिपोर्ट