मुस्लिम समाज ने आतंकवाद का पुतला फूंका, पाकिस्तान मुर्दाबाद के लगाए नारे

muslim-community-protest-against-pulwama-attck

   जावद। जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए अब तक के सबसे बड़े आतंकी हमले में हमारे हिन्दुस्तान के 42 से अधिक सीआरपीएफ के सिपाही शहीद हो गए और कई गंभीर घायल हो गए। इस घटना को लेकर जगह जगह पाकिस्तान और आतंकवाद का पुलता जलाया गया। जावद मुस्लिम समाजजनो ने इस हमले की घोर निंदा कर कहा की जल्द से जल्द देश के प्रधानमंत्री देश के जवानो के हाथ खोल देवें ताकी पाकिस्तान में घुस कर आतंकवाद का खात्मा कर सके। समाजजनो ने पाकिस्तान मुर्दाबाद, आतंकवाद मुर्दाबाद, हिन्दुस्तान जिंदाबाद व शहीद जवान अमर रहे के नारो से बस स्टेंड गुंजा दिया।

       शनिवार को दोपहर 2ः30 बजे जावद नगर के मुस्लिम समाजजनो ने बस स्टेण्ड शास्त्री चैक पर आतंकवाद का पुलता जलाया और युवाओं ने पुतले के उपर जुते और लठ बरसाए, साथ ही तहसीलदार साहब को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौपा और कठौर से कठौर कार्यवाही करने का कहा। समाजजनो ने कहा की आज शोसल मीडिया पर जिस तरह से जवानो के परिवारो का मातम का मंजर देखा हमारी स्वयं की रूह काप उठी। इस्लाम धर्म शांति का धर्म है हमारा धर्म कभी नहीं सिखाता की इसे मारो उसे मारो, और जो इस तरह के काम करता है वो इस्लाम धर्म को समझा ही नहीं। आतंकवादी का कोई धर्म नही होता। साथ ही समाज जनो ने शास्त्री चैक पर दो मीनिट का मौन रख कर देश के वीर सपुतो को याद किया।

       इस अवसर पर मास्टर अ. सत्तार मोमीन, पुर्व पार्षद प्रतिनीधी निसार काजी, शफि मोहम्मद मेवाफरोश, अहमद हुसैन, समाजसेवी हबीब राही, ख्वाजा हुसैन, मोहम्मद हुसैन, मुबारिक रंगरेज, इदरीस, अकरम, अब्दुल, जमील हुसैन, शफी मोहम्मद, वसीम मेवाफरोश, अब्दुल हमीद, कासम मौमिन, अकरम मेवाफरोश, अहमद मौमिन, अनवर मौमिन, राजा मौमिन, सद्दाम हुसैन, यासिन रंगरेज, शाहरूख रंगरेज आदि मौजूद थे।