14 माह से लापता नेहा जोशी कांड, पुलिस की कार्रवाई के खिलाफ नागरिकों का आक्रोश

- एसपी कार्यालय पर सर्वसमाज ने किया प्रदर्शन - 4 अप्रेल को नीमच बन्द का आव्हान, 24 दिनों से भूख हड़ताल कर रहे नेहा जोशी के पिता की तबियत बिगड़ी

नीमच, कमलेश सारडा। 14 महीने से लापता मनासा क्षेत्र की नेहा जोशी का मामला उलझता जा रहा है, नेहा को खोजने की मांग लगातार मुखर हो रही है, एक तरफ नेहा के पिता 24 दिनों से भूख हड़ताल पर बैठे हैं वहीं हिन्दू संगठनों के साथ आम सर्वसमाज ने एसपी कार्यालय पर प्रदर्शन किया, एसपी कार्यालय में जुटे लोगों ने जल्द नेहा जोशी का पता लगाने की मांग की साथ ही मनासा टीआई केएल दांगी और जांच अधिकारी एसआई मोहम्मद आजाद खान को निलंबित करने की मांग की।

यह भी पढ़े…बिजूल नदी के पास अधेड़ का शव मिलने के मामले में मोरवा पुलिस ने नाबालिग बेटे समेत 5 रिश्तेदारों को किया गिरफ्तार

प्रदर्शनकारियों ने पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की, करीब एक घंटे तक प्रदर्शन करने के बाद एसपी उनके बीच पहुंचे, जहां प्रदर्शनकारियों ने नेहा ही नहीं बल्कि 3 और लापता बेटियों को खोजने की मांग रखी और दोषी पुलिसकर्मियों पर तत्काल कार्रवाई की भी मांग की, एसपी ने उनसे कहा कि एसआईटी द्वारा मनासा में ही केम्प किया गया है, जल्द नेहा जोशी को खोजने का प्रयास है, यदि किसी की गलती रही है तो जांच कर कार्रवाई करेंगे।

यह भी पढ़े…पेपर लीक होने के मामलें में मंत्री राजपूत का बयान- मुझे और परिवार को बदनाम कर रहा विपक्ष

इस पर भीड़ संतुष्ट नहीं हुई और तत्काल मनासा के टीआई व एसआई को निलंबित करने की घोषणा की मांग की, लेकिन एसपी उन्हें आश्वासन देकर चले गए, इससे नाराज लोग धरने पर बैठ गए, काफी देर बाद प्रदर्शनकारियों का प्रतिनिधिमंडल फिर एसपी से मिला लेकिन वे एसपी की बात से संतुष्ट नहीं हुए, अंततः विहिप की अगुवाई में सर्वसमाज के तत्वावधान में 4 अप्रेल को नीमच जिला बन्द का एलान कर दिया गया, प्रदर्शकारियों में विहिप, बजरंग दल, करणी सेना, नमो ग्रुप सहित विभिन्न समाजजन शामिल थे, दूसरी तरफ नेहा के पिता की भूख हड़ताल के दौरान तबीयत बिगड़ गई, चेकअप के बाद डॉक्टर ने उन्हें आईसीयू में एडमिट करने की सलाह दी है।