आखिर क्यों कांग्रेस के जिला अध्यक्ष ने उपचुनाव में निर्वाचन आयोग से “एटीएम” ही सील करने की कर डाली मांग

निवाड़ी, डेस्क रिपोर्ट। निवाड़ी के कांग्रेस के जिला अध्यक्ष प्रकाश दांगी ने चुनाव आयोग से कहा है कि जिला प्रशासन ने गड़बड़ी की है इसीलिए एटीएम को सील किया जाए। दरअसल वे ईवीएम के मामलों की बात कर रहे थे लेकिन जानकारी के अभाव में वे लगातार एटीएम और पेटीएम का नाम लेते रहे।

 

CWC Meeting: कांग्रेस के नए अध्यक्ष पर हुआ बड़ा फैसला, सोनिया गांधी ने कही बड़ी बात

” मैं चुनाव आयोग से मांग करता हूं कि एटीएम मशीनों को तत्काल सील किया जाए। जिला प्रशासन ने उन में गड़बड़ी की है।” यह मांग किसी और की नहीं बल्कि कांग्रेस के निवाड़ी जिले के अध्यक्ष प्रकाश दांगी की है। दरअसल दांगी जी को यह जानकारी मिली थी कि पृथ्वीपुर उपचुनाव में वोटिंग के लिए प्रयुक्त होने वाली ईवीएम मशीनों की स्कूटनी निवाङी जिले के साथ-साथ टीकमगढ़ जिले में भी कर दी गई है और उन्होंने इसे संदेहास्पद मानते हुए चुनाव कार्य में लगे अधिकारियों की गड़बड़ी माना और बाकायदा प्रेस कॉन्फ्रेंस करके उन्होंने इस बात की मांग कर डाली कि एटीएम मशीनों को सील किया जाए। इसके साथ ही उन्होंने सशस्त्र बलों की तैनाती में चुनाव सामग्री रखने और वोटिंग कराने की मांग भी की। उन्होंने राज्य सरकार पर आरोप लगाया कि वह चुनाव को प्रभावित कर रही है और चुनाव जीतने के लिए हर हथकंडे अपना रही है।

फिर दौड़ेगी राज्यरानी, कोविड के चलते की गई थी बंद

बोलने तक तो ठीक है। लेकिन यदि अध्यक्ष महोदय केंद्रीय या राज्य निर्वाचन आयोग को लिखित में इस बात की मांग का पत्र भेज दें कि एटीएम मशीनों को सील किया जाए तो फिर क्या होगा! राजनीतिक दलों को यह सोचना होगा कि वे कम से कम ऐसे लोगों को तो अपना महत्वपूर्ण पदाधिकारी ना बनाएं जिन्हें ईवीएम, एटीएम और पेटीएम का अंतर ना पता हो। लेकिन चुनाव और राजनीति के अपने समीकरण होते हैं और इसी को देखकर नेता जनप्रतिनिधि और पदाधिकारी तय किए जाते हैं।