बागियों की एंट्री से उठे बगावत के सुर, विधायक समर्थक ने पूछा गद्दारों को एंट्री क्यूं!

भाजपा नेता रविन्द्र यादव का आरोप विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी का समर्थन करने वाले अब ले रहे भाजपा की सदस्यता

Amit Sengar
Published on -
niwari news

Niwari News : लोकसभा चुनाव से पहले भाजपा में बागियों की घर वापसी का सिलसिला तेज हो गया है। जिससे निवाड़ी जिले की सियासत में इन दिनों भूचाल आ गया है। बीजेपी नेता और विधायक समर्थक रविन्द्र यादव रब्बी ने आरोप लगाते हुए कहा कि जिनकी घर वापसी हो रही है उन्होंने हाल ही में विधानसभा चुनाव में समाजवादी उम्मीदवार का समर्थन किया था। इन बागियों की पूर्व में भी पार्टी संगठन से शिकायत की जा चुकी है ऐसे में अब उन्हें सदस्यता दिलाने और उनकी वापसी से निवाड़ी जिले के विधायक समर्थक खेमे में नाराजगी देखी जा रही है।

20 से 25 कार्यकर्ताओं ने की घर वापसी

बता दें कि मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव 2023 के दौरान भाजपा से बगावत कर समाजवादी पार्टी का समर्थन करने वाले 20 से 25 कार्यकर्ताओं को आज भोपाल में प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा के समक्ष भाजपा की सदस्यता दिलाई गई है। इस फैसले से निवाड़ी के विधायक समर्थक नाराज है और खुलकर विरोध कर रहे है। जबकि इन सभी कार्यकर्ताओं की शिकायत पार्टी हाईकमान से पहले भी की थी, ऐसे में इनकी वापसी से विधायक समर्थकों को डर सता रहा है कि लोकसभा चुनाव में भी यह कुछ ऐसी हरकतें ना करें। सदस्यता ग्रहण करने के बाद विधायक पक्ष कह रहा है कि ऐसे गद्दारों को वापस से क्यों एंट्री दी जा रही है।

niwari news

दरअसल, इस सदस्यता से नाराज विधायक पक्ष मुख्यमंत्री मोहन यादव से मिलकर यह सदस्यता को रद्द करने की मांग भी करेगा। साथ ही सभी सदस्यों की सही जानकारी से रूबरू भी करवाएगा। इससे पहले भी विधायक अनिल जैन भी संगठन द्वारा चुनावों में हुए अपने विरोध की शिकायत हाईकमान से कर चुके है। इन सबके बीच विधानसभा चुनाव में जिन सदस्यों का विरोध किया जा रहा था अब उनकी सदस्यता से यह विरोध और भी तेज हो गया है।

निवाड़ी से आशीष दुबे की रिपोर्ट


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”

Other Latest News