बालाघाटः आधुनिकता में भी व्याप्त है रूढ़िवादी परंपरा, चंदा नहीं देने पर 14 परिवार का किया सामाजिक बहिष्कार

बालाघाट जिले में आधुनिकता के दौरा में रूढ़िवादी परंपरा सामने आई है, जहां दुर्गोत्सव में 14 परिवार द्वारा चंदा नहीं दे पाने पर उनका सामाजिक बहिष्कार कर दिया गया है।

बालाघाट,डेस्क रिपोर्ट। आधुनिकता के दौर में भी समाज अपनी रूढ़िवादी परंपरा से बाहर नहीं निकल पाया है। आज भी ग्रामीण स्तर पर समाज में रहने के लिए कई फैसलों को नहीं मानने पर समाज द्वारा बहिष्कार किए जाने का दंश झेलना पड़ता है। आज एक ऐसा ही मामला मध्यप्रदेश के बालाघाट जिले से आया है, जहां लामता थाना क्षेत्र के मोतेगांव गोंड जनजाति के 14 परिवारों को दुर्गोत्सव में चंदा नहीं देना भारी पड़ गया और उनके परिवार का सामाज से बहिष्कार कर दिया गया।

आज भी व्याप्त है रूढ़िवादी कुरितियां

जी हां आज भी ये सारी कुरितियां समाज में बरकरार है, जहां 200 रुपए का समर्थन करने में असमर्थ परिवार को पिछले को दो सप्ताह से सामाजिक बहिष्कार का सामना करना पड़ रहा है। जिससे परेशान पीड़ित परिवारों ने एएसपी को ज्ञापन देते हुए न्याया की मांग की है।

ये है पूरा मामला

बताया जा रहा है कि दुर्गोत्सव के लिए समिति द्वारा हर घर से 200 रुपए का चंदा वसूल किया जा रहा था। जिसके लिए लामता गांव में एक बैठक बुलाई गई थी। जिसमें ये निर्णय लिया गया था, लेकिन लॉकडाउन के कारण कुछ परिवारों की स्थिति अच्छी नहीं है, जिसके कारण इन 14 परिवारों ने 100 रुपए चंदा देने की बात कही। जिसे मना कर दिया गया और सीधे समाज से बहिष्कृत कर दिया गया। वहीं गांव में इन 14 परिवारों के राशन खरीदने और कहीं भी काम पर जाने को लेकर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है। जिससे परेशान परिवारों ने जिला प्रशासन से बात की, लेकिन उनके द्वारा भी कोई कार्य नहीं किया गया।

चंदा नहीं देना परिवार को पड़ा मंहगा

वहीं चंदा नहीं दे पाने के कारण लामता गांव से 14 लोगों को बहिष्कृत किया गया है, जिन्होंने बताया कि समाज द्वारा बहिष्कार करने के बाद ना कोई ग्रामीण उनसे बात करेगा और ना ही कोई उन्हें काम और राशन देगा। करीब दो हफ्ते से ज्दाया का समय बीत गया है, लेकिन अब उन्हें किसी प्रकार का राशन और काम नहीं दिया जा रहा है। जिससे परेशान होकर सभी ने एएसपी से न्याय की गुहार लगाई है।

वहीं पीड़ित परिवारों द्वारा ज्ञापन सौंपे जाने के बाद जांच एसडीओपी को दी है। जिन्होंने कहा कि जांच में जो भी तथ्य सामने आएगा, उसी के अनुसार आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here