ऑक्सीजन पर फिर तकरार- कांग्रेस विधायक ने खोला मोर्चा तो केंद्रीय मंत्री ने संभाली कमान

आनन फानन में मंत्री पटेल ने जिला अस्पताल के आक्सीजन प्लांट का निरिक्षण किया और अधिकारियों को निर्देश जारी किये। 

दमोह, आशीष कुमार जैन। कोरोना आपदा काल के दौरान देश भर में ऑक्सीजन की कमी सुर्ख़ियों में रही है तो ऑक्सीजन की कमी के चलते मरीजों की मौतें भी सरकारों को कठघरे में खड़ा करती रही हैं। एक बार फिर ऑक्सीजन विवादों में है और इस बार कांग्रेस विधायक ने मोर्चा खोला तो खुद केंद्रीय मंत्री को कमान संभालनी पड़ी है।  मामला दमोह का है जहां आक्सीजन प्लांट विवादों की वजह बन रहा है।

कोरोना काल में लोगों ने ऑक्सीजनकी अहमियत को समझा और देश के साथ साथ दमोह में ऑक्सीजन की मारामारी सुर्ख़ियों में रही है।  दमोह वही जगह है जहाँ लोग ऑक्सीजन सिलेंडर की लूट करते दिखाई दिए और आख़िरकार सरकार को दमोह के जिला अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट लगाने की घोषणा करनी पड़ी।  घोषणा के महीनों बाद आखिरकार अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट लगकर तैयार हो गया लेकिन अब अस्पताल में तैयार खड़ा प्लांट शुरू न होने की वजह से विवाद बढ़ रहा है।  दमोह से कांग्रेस विधायक अजय टंडन ने प्रेस कांफ्रेंस बुलाकर सरकार को चेतावनी दी है कि यदि जल्दी ही प्लांट शुरू नहीं हुआ तो वो खुद इंजीनियर्स के साथ  जिला अस्पताल का ऑक्सीजन प्लांट शुरू कर देंगे।  टंडन का आरोप है कि भाजपा सरकार श्रेय लेने के चक्कर में प्लांट शुरू नहीं होने दे रही है।

ये भी पढ़ें – MP News: इन जिलों में कोरोना केस ने बढ़ाई चिंता, 13 दिन में मिले 112 पॉजिटिव

कांग्रेस विधायक इससे पहले इलाके के सांसद और केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल को चिठ्ठी लिख चुके हैं तो मुख्यमंत्री को भी इस समस्या से अवगत करा चुके हैं। कांग्रेस विधायक के तीखे तेवर देखते हुए अब खुद केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल ने मोर्चा संभाला लिया है।  आनन फानन में मंत्री पटेल ने जिला अस्पताल के आक्सीजन प्लांट का निरिक्षण किया और अधिकारियों को निर्देश जारी किये।  बाद में मीडिया से मुखातिब होते हुए मंत्री पटेल ने कहा कि जल्दी ही प्लांट से मरीजों को ऑक्सीजन मिलने लगेगी।

ये भी पढ़ें – समस्या सुनने गए मंत्री जी जमीन पर बैठे, फिर जनता को गाड़ी में ले गए नगर निगम

मामला अब सिर्फ मरीजों की फ़िक्र और उनको मिलने वाली जीवनदायिनी ऑक्सीजन बस का नहीं बल्कि आक्सीजन फिर सियासी मुद्दा बन गया है, और कटघरे में इलाके के सांसद पटेल और सूबे के मुखिया यानी मुख्यमंत्री हैं लिहाजा बचाव की मुद्रा में खड़े केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल कांग्रेस विधायक के तीखे तेवरों पर सफाई देते हुए कहते है कि विधायक जी को राजनीति के मैदान में बयान देना जरुरी है लिहाजा वो ऐसा सब कुछ कह रहे हैं।

ये भी पढ़ें – जब सड़क पर एक दूसरे को छड़ी से मारने लगे देवर भाभी, Video वायरल

सिर्फ दमोह ही नहीं बल्कि सूबे में और भी कई जगहों पर ऑक्सीजन प्लांट बनकर तैयार हैं लेकिन उद्धघाटन का इंतज़ार करते ये प्लांट मरीजों को ऑक्सीजनमुहैया नहीं करा पा रहे हैं।  लेकिन दमोह से शुरू हुई ऑक्सीजन सियासत अब सूबे में सरकार पर खासा असर डाल सकती है और ऐसे में देखना होगा कि सरकार पीएम और सीएम से फीता कटवाने का इंतज़ार करती है या संभावित तीसरी लहर से पहले ही ये प्लांट्स शुरू करती है।