बाघों की सुरक्षा को लेकर सचेत पन्ना टाइगर रिजर्व प्रबंधन, अलर्ट घोषित

पन्ना।

मध्य प्रदेश के पन्ना टाइगर रिजर्व के बफर क्षेत्र और आसपास के जंगल में पिछलों दिनों हुई बाघों के शिकार की घटनाओं के बाद पार्क प्रबंधन इनकी सुरक्षा को लेकर सचेत हुआ है। टाइगर रिजर्व प्रबंधन ने क्षेत्र में वन्यजीवों के शिकार की आशंका के मद्देनजर रेड अलर्ट घोषित किया है। यह रेड अलर्ट सोमवार से 16 जनवरी तक घोषित किया गया है। प्रबंधन का कहना है कि टाइगर रिजर्व क्षेत्र में इन दिनों शिकार की आशंका की सूचनाएं होने के मद्देनजर यह अलर्ट घोषित किया गया है।

टाइगर रिजर्व के उप संचालक जरांडे रामहरि ने जानकारी देते हुए बताया कि कोर और बफर क्षेत्र में 16 जनवरी तक रेड अलर्ट घोषित किया गया है। इसके साथ ही शिकार की आशंका वाले क्षेत्रों में विशेष ऐहतियात बरतने के निर्देश भी दिए गए हैं। रिजर्व के मैदानी और जिम्मेदार अमले से कहा गया है कि संपूर्ण क्षेत्र में गश्त और बढ़ायी जाए तथा किसी भी संदेहास्पद गतिविधि दिखायी देने पर तत्काल आवश्यक कार्रवाई की जाए। बताते चलें कि इन दिनों पन्ना टाइगर रिजर्व बाघों से आबाद है। मौजूदा समय में 55 से अधिक बाघ यहां हैं, जो कोर क्षेत्र के अलावा बफर और आसपास के जंगलों में भी विचरण कर रहे हैं। पिछले दिनों यहां लगातार बाघों के शिकार की खबरें भी आई थी। जिसके बाद इनकी सुरक्षा को लेकर कई सवाल भी खड़े हो रहे थे।