मुख्यमंत्री का अलग अंदाज बोले शिवराज “हिसाब किताब बराबर रखो यार कलेक्टर”

पन्ना, डेस्क रिपोर्ट। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शुक्रवार को पन्ना पहुँचे, पन्ना में आयोजित कार्यक्रम के दौरान अपने खास अंदाज में उन्होनें जिले की जनता को संबोधित किया, अपने भाषण के दौरान मुख्यमंत्री मंच से ही कलेक्टर संजय कुमार मिश्र से बोले हिसाब किताब बराबर रखो यार कलेक्टर, उनकी यह बात सुनकर जनता ने भी जमकर ठहाके लगाए, वही सी एम ने जनता और अधिकारियों से संवाद किया, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों के भूमिपूजन के लिए पन्ना पहुंचे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंच से ही जनता और अधिकारियों से पूछा कि अभी पन्ना में कितने दिन में पानी मिल रहा है,जनता का जबाब आया 2 दिन में,जिसके बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि नगर निगम और पीएचई वाले यहां आए।मंच पर जब कुछ लोग उनके बुलाने पर पहुंचे तो सीएम ने उनसे पूछा , आप पीएचई से हो, यहां ग्रामीण क्षेत्र में कितनी योजनाएं स्वीकृत है, जबाब मिला 163 योजनाएं, फिर सी एम ने पूछा जो 163 योजनाएं स्वीकृत है उन पर काम शुरू हुआ है या नही, जबाब आया सभी है, और आप यहां बैठे है एक बार योजनाओं को चेक करवा लें!

सतना में नगर निगम के सब इंजिनियर और उसकी पत्नी के साथ मारपीट, FIR दर्ज

इस पर सी एम बोले ऐसा नहीं हो, की ये जोड़ तोड़ कर निकल लें। एक बार बुंदेलखंड पैकेज में पता चला की स्कूटर से इंटें ढो दई।  और मैंने उन्हें भी पकड़ लिया था। कितने करोड़ रुपए स्वीकृत है बताओ, अधिकारियों की तरफ से जबाब मिला 189 करोड़। इसके बाद सी एम ने मंच से ही जनता से कहा की मेरे बहनों और भाइयों सुनो, देखना आपका भी काम है 189 करोड़ की 113 योजनाएं ग्रामीण क्षेत्र में स्वीकृत की हैं जिन पर काम चल रहा है अब वो काम सही हो जाए यह जवाबदारी आपकी भी है गांव में समिति बना दें। दीनदयाल अंत्योदय समिति बन गई क्या, बन गई है तो सभी को काम दे दो देखें एक एक योजना। अपना ये काम ही है देखे अपन सब। ताकि कोई गड़बड़ ना हो पाए गुणवत्ता से समझौता नहीं। सभी में पानी मिला है कि ऐसे ही पाइप डाल दिए, पानी मिलने के बाद ही पाइप डलें। नहीं तो पाइप बिछाने के चक्कर में, पानी है ही नही और पाइप बिछा दो। मजगार डैम, में अभी काम चल रहा है या बंद है।

MPPSC : छात्रों को लगा बड़ा झटका, High Court ने स्थगित की सोमवार को होने वाली परीक्षा

फॉरेस्ट का क्लीयरेंस मैं देखूंगा लेकिन, यहां ठीक से काम चले उसको देखो। फिर, कितने गांव बचे, मैं आज कह रहा हूं मेरी पन्ना जिले की बहनों 3 साल के अंदर, जो यहां बैठी है वो भी और जो मुझे मीडिया के माध्यम से सुन रही है उन्हे भी कह रहा हूं। पन्ना जिले में जहां पानी मिल जाए, आहार किसी गांव में नही मिला वो अलग बात है। पानी मिल जाए तो, हैंडपंप की खटर खटर बंद करवा दूंगा पाइपलाइन बिछा कर घर में टोंटी वाला नल लगवाकर पानी दूंगा। ताकि, टोंटी खोले तो झर झर पानी आ जाए, ओर पानी भरने बाहर न जाना पड़े। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों के भूमिपूजन के दौरान पन्ना पहुंचे मुख्यमंत्री ने वहां की जनता को विश्वास दिलवाया की उन्हें पानी की कोई समस्या नही होने दी जाएगी इसके साथ ही उन्हें वो सभी सुविधाओं और योजनाओं का लाभ भी दिया जाएगा जो सरकार की तरह से चलाई जा रही है।

https://vimeo.com/613752956